भारतीय रेलवे की बड़ी उपलब्धि – 166 साल में पहली बार ‘जीरो पैसेंजर डेथ’

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

प्रधानमंत्री मोदी और रेल मंत्री पियूष गोयल के नेतृत्व में भारतीय रेल कामयाबी के नित नए झंडे गाड़ रही है| इस साल रेलवे ने अनोखा कारनामा कर दिखाया|

भारतीय रेल के 166 सालों के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि पुरे साल में रेल हादसे में किसी भी यात्री की मौत नहीं हुई है। रेलवे की रिपोर्ट के मुताबिक, मार्च 2019 से अब तक किसी भी यात्री की रेल हादसे में मौत नहीं हुई है। सुरक्षा की दिशा में यह रेलवे की उल्लेखनीय उपलब्धि है।

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर ख़ुशी जाहिर की

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इस पर खुशी जताते हुए एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा- ‘सेफ्टी फर्स्ट: 66 साल में पहली बार, चालू वित्त वर्ष में भारतीय रेल में एक भी यात्री की मौत नहीं हुई है।’

उल्लेखनीय है कि 6 दिसंबर को दिल्ली हाईकोर्ट ने देश भर के सभी रेलवे स्टेशनों पर सुरक्षा और सुरक्षा उपायों के उच्चतम मानकों को बनाए रखने की मांग करने वाली याचिका पर केंद्र से जवाब मांगा था। पिछले महीने यानी नवंबर में ही रेल मंत्रालय ने दावा किया था कि सुरक्षा में सुधार के लिए रेल पटरियों को आधुनिक बनाया जा रहा है।

रेल मंत्री ने चेन्नई के इंटीग्रल कोच फैक्ट्री के कीर्तिमान पर भी किया ट्वीट

रेल मंत्री ने चेन्नई स्थित इंटीग्रल कोच फैक्ट्री के अद्वितीय प्रदर्शन पर भी ख़ुशी जाहिर करते हुए ट्वीट किया था| उल्लेखनीय है कि इंटीग्रल कोच फैक्ट्री ने मात्र 9 महीने में 3,000 कोच का निर्माण कर कीर्तिमान स्थापित किया है।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •