स्वास्थ्यकर्मियों के साथ बदतमीज़ी पर योगी ने दिखाए सख्त तेवर

यूपी में स्वास्थ्यकर्मियों व पुलिसकर्मियों पर हमले व अभद्रता की घटनाओं पर संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त रुख अपनाया है। उन्होंने ऐसे लोगों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई करने का आदेश दिया है।

बता दें कि प्रदेश में कई जगहों से स्वास्थ्यकर्मियों से अभद्रता और पुलिसकर्मियों पर हमले की खबरें आ रही थीं, जिस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त रुख अपनाया और ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने का आदेश दिया है।

‘इंसेफेलाइटिस से जीते, अब कोरोना को भी हराएंगे’

उन्होंने कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग के बारे में कहा, ‘जैसे इंसेफसलाइटिस से लड़कर जीते, वैसे ही कोरोना से लड़कर जीतेंगे। यही नहीं हमें आगे की भी चुनौती की तैयारी रखनी है, ताकी इस तरह की किसी भी आपदा से हम अपने प्रदेश के लोगों को पूरी तरह सुरक्षित रख सकें। लैब और इंफ्रास्ट्रक्चर को खूब मजबूत रखना है।’

अब जमातियों के साथ केवल पुरुष कर्मचारी रहेंगे मौजूद

गाजियाबाद में नर्सों के साथ अभद्रता के बाद बड़ा फैसला लिया गया है। अब तबलीगी जमात के लोगों की चिकित्सा एवं सुरक्षा में महिला स्वास्थ्यकर्मी और महिला पुलिसकर्मी नहीं लगाई जाएंगी। केवल पुरूष कर्मचारी ही मौजूद रहेंगे।

योगी बोले- इंदौर जैसी घटना अगर हुई तो होगी कड़ी कार्रवाई 

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि मध्य प्रदेश के इंदौर में मेडिकल टीम के साथ हुए दुर्व्यवहार के जैसा मामला अगर होता है तो कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इंदौर के टाटपट्टी बाखल इलाके में कोरोना के संदिग्‍ध मरीजों की जांच करने गई मेडिकल टीम पर पत्‍थरबाजी हुई। उनके साथ मारपीट की गई। मामले में एफआईआर दर्ज हो गई है। वीडियो के आधार पर सात लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है। बाकियों की तलाश हो रही है। कलेक्‍टर साहब ने कहा क‍ि जो हमलावर थे, उन्‍हें लंबे समय तक जेल में रहना पड़ेगा।

शुरुआत से ही तबलीगी जमात के कोरोना संदिग्ध स्वास्थ्यकर्मियों का सहयोग करने की बजाय उनसे बदसलूकी कर रहे हैं। दिल्ली में स्वास्थ्यकर्मियों के ऊपर थूकने और आइसोलेशन सेंटर में जानबूझकर हंगामा खड़ा करने का मामला सामने आ चुका है। वहीं, बिहार में तबलीगी जमात के लोगों की तलाश को गई टीम पर हमला भी किया गया।