योगी आदित्यनाथ ने राम मंदिर निर्माण के लिए हर परिवार से एक ईंट और 11 रुपये का सहयोग माँगा

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Yogi_Adityanath

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को झारखंड के गिरिडीह में एक चुनावी सभा को संबोधित किया। इसमें योगी ने झारखंड के हर परिवार से अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए एक ईंट और 11 रुपए दान करने की अपील की। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी सीएम योगी बीजेपी उम्मीदवार नागेंद्र महतो के लिए वोट मांगने के लिए बगोदर में एक रैली को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि भाजपा और मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में 500 वर्षों से चला आ रहा राम मंदिर विवाद समाप्त हो गया। जबकि कांग्रेस, राजद, भाकपा वाले और कुछ अन्य दल इस विवाद का हल नहीं चाहते थे की वहां भव्य राम मंदिर बने। लेकिन, अब भव्य राम मंदिर का मार्ग प्रशस्त हो गया।

उन्होंने रैली में जय श्री राम के नारे के बीच कहा, “बहुत जल्द अयोध्या में एक भव्य राम मंदिर बनाया जाएगा। झारखंड चुनावों में बीजेपी उम्मीदवारों के पक्ष में अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए मतदाताओं से अपील करते हुए, यूपी के सीएम ने आगे कहा, “मैं उस राज्य से आता हूं जिसने भगवान राम और उनकी शासन प्रणाली को रामराज्य कहा था।”

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राम का काज समाज के सहयोग से ही चलता है। शासन की अच्छी पद्धति रामराज्य कहलाती है। मोदी-अमित शाह देश में रामराज्य स्थापित करने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। रामराज्य का पैमाना व्यक्ति का चेहरा और मजहब नहीं बल्कि गांव-गरीब का समुचित विकास हैं।

उन्होंने कहा कि भारत के अंदर समता और सुरक्षा का अधिकार है, जो पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में नहीं है। उन्होंने कांग्रेस, सीपीआई एमएल, झामुमो और राजद पर प्रहार करते हुए कहा कि इन राजनीतिक दलों से देश का भला नहीं हो सकता। ये सभी एक ही थैली के चट्टे-बट्टे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तीन पार्टियों-कांग्रेस, झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) व राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के गठबंधन पर हमला किया और कहा कि वे गरीब, युवा और समाज के अन्य लोगों की सेवा किए बगैर किसी तरह सत्ता पाना चाहते हैं।

बता दें कि सीएम योगी से पहले जन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य रामविलास दास वेदांती ने कहा था कि अयोध्या के राम जन्मभूमि पर बनने वाला मंदिर विश्व की सबसे ऊंचा मंदिर होगा। हालांकि राम मंदिर ट्रस्ट को लेकर विश्व हिंदू परिषद, निर्वाणी अखाड़ा, निर्मोही अखाड़ा और दिगंबर अखाड़ा आदि में बातचीत जारी है।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •