यस बैंक ग्राहकों के लिए बड़ी राहत – 18 मार्च से रोक होगी ख़त्म

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सरकार द॒वारा अधिसूचित यस बैंक पुनर्गठन योजना के मुताबिक संकट में फंसे निजी क्षेत्र के बैंक पर लगी रोक 18 मार्च को हटा ली जाएगी। गौरतलब है कि भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) ने पांच मार्च को यस बैंक पर रोक लगा दी थी जिसके तहत प्रति जमाकर्ता तीन अप्रैल तक बैंक से अधिकतम 50,000 रुपये ही निकाल सकता था। 

अधिसूचना मे कहा गया, ‘पुनर्गठित बैंक पर सरकार द्वारा जारी रोक का आदेश इस योजना के आरंभ की तिथि से तीसरे काम-काजी दिवस को शाम छह बजे से अप्रभावी हो जाएगा।’ कई तरह की पाबंदियां लगाने के बाद आरबीआई ने बयान जारी कर कहा था कि यस बैंक के निदेशक मंडल को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया गया है और भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के पूर्व मुख्य वित्त अधिकारी (सीएफओ) प्रशांत कुमार को यस बैंक का प्रशासक नियुक्त किया गया है।

भारतीय स्टेट बैंक खरीदेगा यस बैंक के शेयर

यस बैंक को संकट से उबारने के लिए ड्राफ्ट रेजॉल्यूशन स्कीम को मोदी कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है। इसके तहत बैंक में निवेश करने वाला 49 फीसदी तक की हिस्सेदारी खरीद सकता है। इसके तहत भारतीय स्टेट बैंक यस बैंक के 725 करोड़ शेयर यानी 49 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगा। भारतीय स्टेट बैंक ने गुरुवार को ही कहा था कि वह यस बैंक में 7250 करोड़ रुपए डालेगा और यस बैंक के 725 करोड़ शेयर खरीदेगा। यानी प्रति शेयर भारतीय स्टेट बैंक 10 रुपए निवेश करेगा।

यस बैंक के राणा कपूर पर कार्रवाई

यस बैंक के फाउंडर और पूर्व सीईओ पर कार्रवाई करते हुए उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था। सीबीआई ने राणा कपूर से जुड़े कई ठिकानों पर छापेमारी की थी। हाल ही में सीबीआई ने राणा कपूर और उनकी पत्नी बिंदू के खिलाफ एक रीयल्टी कंपनी से दिल्ली के पॉश इलाके में एक बंगले की खरीद के जरिए कथित रूप से 307 करोड़ रुपए की रिश्वत लेने का नया मामला दर्ज किया है। वहीं, पहले भी कई मामले दर्ज किए जा चुके हैं।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •