सालों बाद आखिर ‘नागरिकता’ पैदा हो गई

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Years later, citizenship was born

हमारे देश में जब किसी के घर में लड़की पैदा होती है, तो लोग खुशी जाहिर करते हुए कहते है कि घर में लक्ष्मी आई है। लेकिन आज हम बात एक ऐसी लड़की की कर रहे है, जिसके जन्म होते ही सिर्फ उनके पिता के घर ही नही बल्कि उन सब परिवारों के घर भी आज खुशी की लहर है, जिनके सिर सालों से रिफ्यूजी का तमगा लगा हुआ था। हम बात ऐसी बेटी की कर रहे है जिसने आंख खोलते ही रिफ्यूजी नही बल्कि भारत के नागरिकता का तमगा हासिल किया, जिसके चलते इसका नाम ही ‘नागरिकता’ पड़ गया और ये सब हुआ है मोदी सरकार के चलते।

लोक सभा में एक तरफ अमित शाह नागरिक संशोधन बिल को पास करवा रहे ते तो दूसरी तरफ दिल्ली के रिफ्यूजी कैप में एक बच्ची का जन्म हो रहा था। जैसे ही लोकसभा में बिल पास हुआ, वैसे ही इस बच्ची का जन्म हुआ, बस क्या था घर में दो खुशियां एक साथ आई। परिवारवालों ने इस बच्ची का नाम ही नागरिकता रख दिया।

मोदी जी और बच्ची को बता रहे शुभ

करीब 11 साल पहले पाकिस्तान के सिंध राज्य के हैदराबाद शहर से आया ये परिवार आज खुशी में झूम रहा है। इंडिया फर्स्ट की टीम जब उनके कैम्प में पहुंची तो वहाँ मानों त्योहार सा माहौल था। उनका कहना है कि वादे तो उनके साथ बहुत नेताओं ने किये लेकिन मोदी जी ने वो कर दिया जिसके लिये वो हर दिन प्रार्थना करते रहते थे। मोदी जी को लेकर वो ये भी कह रहे है, कि देश में मोदी जी ही एक ऐसे नेता है, जो हिंदुओं के रक्षक है। भगवान उनकी उम्र दुगनी करे। ऐसे में हम तो सिर्फ यही कहेंगे कि इन लोगो की खुशी कुछ इस तरह की थी, कि इसे शब्दों में बया नही किया जा सकता है। बच्ची नागरिकता को लेकर इनका कहना है कि इसका नाम इस लिये नागरिकता रखा है, कि हमेशा उन्हे याद रहे कि मोदी और इस बच्ची के चलते ही उन्हे भारत माता का लाल कहलाने का तमगा मिला है।

नागरिकता मिलने पर सारी रात मनाते रहे जश्न

दूसरी तरफ इलाके में रहने वाले लोग इस बात से काफी खुश है कि अब वो भी भारतीय कहलायेंगे। हालाकि वो पाकिस्तान में होने वाले सितम को याद करके उत्साह के इस महौल में भी गम़-जदा हो जा रहे थे। कुछ लोगों का कहना था कि वो सिर्फ पढ़ाई इस लिये ही नही कर पाये, क्योकि पाक में उन्हे पहले इस्लाम की पढ़ाई करवाई जाती थी। तो लड़कियां इस लिये घर से नही निकलती थी कि कही कोई मुस्लिम उन्हे उठा कर धर्म परिवर्तन न कर दे। लेकिन भारत आने के बाद आज जब उन्हे भारत की नागरिकता मिल गई तो इनका कहना है कि सारे गम दूर हो गये है और उनके बच्चे अब आने वाले दिनों में पढ़ लिख सकेंगे, उनका भविष्य सुनहरा होगा। खुशी में झूम रहे लोग सिर्फ मोदी जी की जयकार करते हुए नजर आये और उनका आभार करते हुए दिखे।

मतलब साफ है कि जिस कानून को लेकर सियासी उठापठक सियासत में देखी जा रही है, तो दूसरी तरफ हिंदू परिवार आज जश्न मनाने में जुटे है, जो सालों से भारत माता की जय के नारे तो दिल से लगा रहे थे लेकिन वो सहूलियत उन्हे नही मिल रही थी जो दूसरे भारतियों को मिलती थी लेकिन आज से ये भी भारतीय है और इनको इस बात का गर्व भी कर रहे है। मोदी सरकार के होने के चलते अपना सुनहरा भविष्य को भी देख रहे है।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •