संकटमोचन बने मोदी, पूरी दुनिया बोल रही थैंक्यू

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कहते हैं किसी भी नेता की असली पहचान इस बात से होती है कि मुसीबत के वक़्त वह अपने व अपने अनुयायियों के लिये क्या करता है | भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिये भी पिछले कुछ दिन मुसीबत से भरे रहे हैं | पर वह इस मुसीबत का डटकर सामना करते नजर आ रहे हैं |

दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र का प्रधानमंत्री होने के नाते उनकी जिम्मेदारी अपने देश के साथ-साथ दुनिया के बाकी देशों की जनता तक भी है | तभी तो मोदी जी ने अपने देश के साथ-साथ पूरी दुनिया के लोगों को भारत मे निर्मित दवाइयां देने का फैसला लिया, कहीं सेफ्टी उपकरण भेजे तो कहीं रेस्पोंस टीम भेजकर उनका दिल  जीता | आज समूचा विश्व खुद को मोदी के अहसानों तले दबा महसूस कर रहा है |

ट्रंप ने कहा, ‘थैंक्यू इंडिया’

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत से कोरोना वायरस से लड़ने के लिए हाइड्रॉक्सिक्लोरोक्वाइन निर्यात करने की मांग की थी। यह दवा मलेरिया के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाती है। भारत की कंपनियां बड़े स्तर पर इसका उत्पादन करती हैं। ट्रंप की मांग के बाद भारत ने इसके एक्सपोर्ट पर लगे बैन को हटा लिया। अब यह दवा अमेरिका सहित बाकी देशों को पहुंचाई जाएगी। इस कदम के बाद ट्रंप ने भारत और पीएम मोदी को धन्यवाद दिया और कहा कि भारत की इस मदद को भुलाया नहीं जाएगा।

ब्राजील के राष्ट्रपति को याद आई रामायण

ब्राजील के राष्ट्रपति जैर बोल्‍सोनारो ने भी हाइड्रॉक्सिक्लोरोक्वाइन दवा की सप्‍लाइ के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्‍यवाद दिया। उन्होंने यह तक कहा दिया कि जिस तरह हनुमान जी ने संजीवनी बूटी लाकर भगवान राम के भाई लक्ष्‍मण के प्राण बचाए थे, उसी तरह से भारत की ओर से दी गई इस दवा से लोगों के प्राण बचेंगे।

ब्रिटेन ने जताया आभार

भारत में ब्रिटेन की कार्यवाहक उच्चायुक्त जैन थॉम्पसन ने पैरासिटामॉल (paracetamol )के निर्यात को मंजूरी देने पर आभार जताया है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत सरकार का ब्रिटेन को पैरासिटामॉल के निर्यात की मंजूरी देने पर आभार। कोरोना वायरस से जंग में वैश्विक सहयोग महत्वपूर्ण है। वैश्विक चुनौतियों से अच्छी शक्ति के रूप में ब्रिटेन और भारत का साथ मिलकर लड़ने का ट्रैक रेकॉर्ड रहा है।’

इजरायल ने भी दिया धन्यवाद

इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने भी हाइड्रॉक्सिक्लोरोक्वाइन समेत पांच टन सामान भिजवाने के लिए भारत के PM नरेंद्र मोदी का आभार जताया है। नेतन्याहू ने ट्वीट किया, ‘इजराइल को क्लोरोक्वाइन भेजने के लिए शुक्रिया, मेरे प्रिय मित्र नरेंद्र मोदी। इजराइल के सभी नागरिक आपका धन्यवाद अदा करते हैं।’

SAARC देशों को $10 मिलियन की मदद

कोरोनवायरस से लड़ने के लिए भारत ने SAARC देशों के इमर्जेंसी फंड में 10 मिलियन डॉलर देने का फैसला किया। इस ऐलान के बाद श्रीलंका, मालदीव, अफगानिस्तान, नेपाल और बांग्लादेश को मेडिकल सप्लाई, टेस्ट किट और सैनिटाइजर्स भी पहुंचाए गए हैं। नेपाल में इक्विपमेंट के साथ रैपिड रिस्पॉन्स टीम भी भेजी गई है।

युगांडा को भी मदद

पीएम मोदी ने युगांडा के राष्ट्रपति योवरी कागुटा से आपदा के हालात को लेकर बात की। पीएम ने उन्हें मदद का आश्वासन भी दिया है ताकि युगांडा में वायरस को फैलने से रोका जाए।

 

  


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •