पीएम जनधन से महिलाओं की हो रही है आर्थिक प्रगति

Women are making economic progress with PM Jan Dhan

प्रधानमंत्री जनधन योजना महिलाओं की आर्थिक प्रगति में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। भ्रष्टाचार रोकने और लाभार्थियों को सरकारी योजनाओं का सीधे लाभ देने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री मोदी द्वारा शुरू की गई जनधन योजना आज सफलता के नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है। इस योजना ने महिलाओं की आर्थिक प्रगति के नए द्वार खोले हैं। इस योजना से जहां महिलाएं समर्थवान बन रही है, वहीं सरकारी योजनाओं की सब्सिडी की राशि सीधे उनके खातों में पहुंच रही है। इस तरह प्रधानमंत्री जनधन योजना महिला सशक्तिकरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है।

आंकड़ों के मुताबिक इस योजना के तहत अब तक कुल 37.55 करोड़ बैंक खाते खोले जा चुके हैं और कुल 37.55 करोड़ बैंक खातों में महिला खाताधारकों की संख्या पहुंची 20 करोड़ के पार हो गई है। जानकारी के मुताबिक 37.55 करोड़ बैंक खातों में जमा कुल धनराशि 107172.54 करोड़ रुपए हो गई है।

प्रधानमंत्री मोदी की प्रमुख योजनाओं में एक समझी जाने वाली ‘प्रधानमंत्री जनधन योजना’ का उद्देश्य अब तक बैंकिंग सेवाओं से वंचित लोगों को बैंकिंग प्रणाली के दायरे में लाना है। इस योजना के तहत जीरो बैलेंस सुविधा वाले खाते खोले जाते हैं।

मोदी सरकार की प्रधानमंत्री जनधन योजना ने बनाया नया रिकॉर्ड

प्रधानमंत्री जन-धन योजना मोदी सरकार की प्रधानमंत्री जन-धन योजना के तहत खुले बैंक खातों में जमा राशि का एक नया रिकॉर्ड बन चुका है। मोदी सरकार की ओर से शुरू की गई प्रधानमंत्री जनधन योजना (PMJDY) के तहत खुले खातों में जमा रकम का आंकड़ा 1.07 लाख करोड़ के पार चला गया है। इस योजना में अबतक 37.55 करोड़ से ज्यादा लाभार्थी हो चुके हैं।

ताजा आंकड़ों के अनुसार जनधन खातों में 29 नवंबर 2019 तक इन खातों में जमा रकम 1,07,172.54 करोड़ रुपये है। जिन क्षेत्रों में बैंक शाखाएं उपलब्ध नहीं हैं, वहां 1.26 लाख बैंक मित्र लाभार्थियों तक बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध करा रहे हैं। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने 28 अगस्त 2014 को प्रधानमंत्री जन-धन योजना की शुरूआत की थी।

सरकारी योजनाओं में भ्रष्टाचार पर लगी रोक

केंद्र सरकार द्वारा दी जा रही तमाम किस्म की योजनाओं के तहत दी जाने वाले तमाम पेंशन, खाद्यान्न सब्सिडी, गैस सब्सिडी आदि का पैसा इन्हीं जन-धन खातों के माध्यम से लाभार्थियों तक पहुंचा रही है। अब ग्रामीणों के खातों में बगैर किसी भ्रष्टाचार के सब्सिडी की रकम जनधन खातों में पहुंच रही है, यह भी एक बड़ा कारण है कि जनधन खातों में रुपए का लेनदेन लगातार बढ़ता जा रहा है।

कभी बंद नहीं होगी जनधन योजना

जनधन योजना की भारी सफलता को देखते हुए केंद्र सरकार ने इस योजना को हमेशा खुली रखने का फैसला किया है। योजना अनिश्चित काल तक खुली रहेगी। आम जनता को बैंकों से जोड़ने और उन्हें बीमा और पेंशन जैसी वित्तीय सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए इसकी शुरुआत की गई।

जीरो बैलेंस के साथ खुलने वाले जनधन योजना में दुर्घटना बीमा, ओवरड्रॉफ्ट फैसेलिटी, चेक बुक समेत कई दूसरे लाभ भी मिलते हैं। आइए जानते हैं जनधन खाताधारकों को खाते के तहत मिलने वाले लाभ के बारे में –

 जमा पर ब्याज
 दो लाख रुपये का दुर्घटना बीमा कवर
 न्यूनतम बैलेंस बनाए रखना आवश्यक नहीं
 30 हजार रुपये का लाइफ कवर, जिसका भुगतान लाभार्थी की मृत्यु पर किया जाता है। हालांकि, इसके लिए पात्रता शर्तों को पूरा करना जरूरी है
 पूरे भारत में पैसे ट्रांसफर करने की सुविधा
 सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों को डायरेक्ट बेनेफिट ट्रांसफर के तहत सीधे जनधन खातों में फंड ट्रांसफर
 छह माह तक खातों का संतोषजनक संचालन के बाद ओवरड्रॉफ्ट फैसेलिटी की सुविधा
 पेंशन और बीमा प्रोडक्ट का एक्से
 जनधन योजना के तहत व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा का क्लेम तभी मिलेगा जब रूपे कार्डधारक किसी भी बैंक शाखा अथवा किसी दूसरे बैंक के माध्यम से दुर्घटना की तारीख को शामिल करते हुए दुर्घटना की तारीख से पूर्व 90 दिन के भीतर किया हो
 प्रति परिवार, खासकर परिवार की स्त्री के लिए सिर्फ एक खाते में 10,000 रुपये तक की ओवरड्राफ्ट की सुविधा मिलेगी