44 करोड वैक्सीन डोज के आर्डर के साथ केंद्र 21 जून से चलायेगी वैक्सीनेशन का मेगा अभियान

पीएम मोदी के ऐलान के बाद 21 जून से केंद्र सरकार समूचे देश में मेगा टीका अभियान की शुरूआत करने जा रही है। इसके लिये सरकार ने रोडमैप भी तैयार कर लिया है जिसके तहत सरकार ने 44 करोड़ वैक्सीन काआर्डर दे दिया है और 30 प्रतिशत एडवांस भी कंपनी को दे दिया गया है।

कोविशील्ड की 25 करोड़ और कोवैक्सीन की 19 करोड़ डोज खरीदेगी सरकार

वैक्सीनेशन से पहले देश में वैक्सीन की कमी को दूर करने के लिये सबसे पहले सरकार ने कमर कसी है। सरकार की माने तो 44 करोड़ डोज में 25 करोड़ डोज कोविशील्ड की और 19 करोड़ डोज कोवैक्सीन की हैं। इसके साथ सरकार ने कुल कीमत की 30 फीसद राशि एडवांस में सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक को जारी कर दी है। केंद्र सरकार ये डोज राज्यों को मुफ्त में उपलब्ध कराएगी। इसके अलावा 25 फीसद डोज वैक्सीन उत्पादक कंपनियां निजी क्षेत्र को सप्लाई करेंगी, जिन्हें निजी अस्पतालों में पैसे लेकर लिया जायेगा। इससे पहले सरकार ने बायोलाजिल ई को 30 करोड़ डोज का आर्डर दिया था। वही विदेशी कंपनी स्पुतनिक-वी को भी भारत में बनाया जा रहा है तो इसका आयात भी रूस से हुआ है।

टीकाकरण में तेजी की उम्मीद

इसके साथ सरकार की माने तो अभी टीकाकरण में जायडस कैडिला समेत दूसरे और तीसरे चरण के ट्रायल में चल रही वैक्सीन शामिल नहीं हैं। लेकिन कयास लगाया जा रहा है कि अगले कुछ हफ्ते में जायडस कैडिला की वैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की अनुमति मिल सकती है। इसके बाद टीकाकरण अभियान में उसे भी शामिल किया जाएगा। इसी तरह भारत में बड़े पैमाने पर उत्पादन शुरू होते ही सरकार स्पुतनिक-वी का भी आर्डर करेगी। ध्यान देने की बात है कि सरकार ने इस साल के अंत तक सभी वयस्क भारतीयों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा है।

टीकाकरण अभियान से पहले सरकार ने राज्यो को सख्त चेतावनी भी दी है कि अगर केंद्र सरकार के द्वारा दी गई वैक्सीन की सही से खपत नही होगी तो उस राज्य को कम वैक्सीन दी जायेगी। ऐसे में अब राज्यों को भी ये साफ करना होगा कि वो वैक्सीन को बर्बाद नही करेंगे। जिससे तय माना जा रहा है कि टीकाकरण का अभियान अभी से औऱ तेज हो जायेगा।

 

Leave a Reply