विंग कमांडर अभिनन्दन को वीर चक्र से किया जायेगा सम्मानित, साथ ही उनके स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल को युद्ध सेवा मेडल से किया जायेगा सम्मानित

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Wing Commander Abhinandan will be honored with the Veer Chakra

कल पुरे भारत में देश का 73वा स्वतंत्रता दिवस मनाया जायेगा | और इसी खास मौके पर हमारे उन बहादुर जवानों को भी वीरता पुरष्कार से भी सम्मानित किया जायेगा जिन्होंने अपनी बहादुरी और अदम्य साहस से दुश्मनों को मात दी है | बता दे की विंग कमांडर अभिनन्दन को उनकी बहादुरी के लिए वीर चक्र के सम्मान से सम्मानित किया जायेगा |

विंग कमांडर अभिनन्दन एक ऐसा नाम जिसे देश का बच्चा-बच्चा जानता है | 27 फ़रवरी को जिस बहादुरी के साथ उन्होंने पाकिस्तान के F-16 विमानों को भारत की सीमा से बहार खदेड़ा और उसे बुरी तरह से क्षतीग्रस्त कर दिया था | हालाँकि इस दौरान उनके विमान को भी हानि पहुंची और उनका विमान गिर कर पाकिस्तान के हिस्से में चला गया और पाकिस्तान की सरकार ने उन्हें अपने गिरफ्त में ले लिया | पर पाकिस्तान की सरकार उन्हें ज्यादा देर तक अपने गिरफ्त में नहीं रख पाई और PM मोदी और भारत सरकार के दबाव में आकर पाकिस्तान को हमारे बहादुर विंग कमांडर को रिहा करना पड़ा |

खैर आज का हमारा अहम् मुद्दा विंग कमांडर अभिनन्दन सिंह नहीं बल्कि पाकिस्तान के विमानों को देश की सीमा के बाहर करने में उनका पूरा साथ देने वाली उनकी स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल है | बता दे की भारत सरकार स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल को भी युद्ध सेवा मेडल देने का एलान कर चुकी है |

स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी ने निभाया था विंग कमांडर का बखूबी साथ

युद्ध में सीमा पर लड़ने वाले सिपाहियों को और उनके बलिदान को तो सभी जानते है लेकिन युद्ध में कुछ ऐसे गुमनाम चेहरे भी होते है जो कण्ट्रोल रूम से दुश्मन की हर हरकत पर अपनी पैनी नज़र रखते है और लगातार सेना को उनकी हरकतों की जानकारी देते रहते है | स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल भी इन्ही चेहरों में एक है |

भारत के एयर स्ट्राइक वाले कदम के बाद बौखलाए पाकिस्तान ने जब बदले के नियत से अपने F-16 विमान को भारत की सीमा के अन्दर आने की कोशिश की तब मिंटी ने अपनी सूझ-बुझ दिखाई और पाकिस्तान के इस नाखार्कत की जानकारी विंग कमांडर्स को दी | विंग कमांडर अभिनन्दन जेट उड़ा रहे थे और कण्ट्रोल रूम से मिंटी लगातार उनको पूरा सहयोग दे रही थी | मिंटी ने पाकिस्तान के विमानों की हर हरकत पर अपनी नज़र रखी थी और उनके हर मूव की जानकारी सबसे पहले वो विंग कमांडर को दे रही थी |

विंग कमांडर पाकिस्तान के मंसूबों को साफ़ करने में कामयाब रहे पर इस जीत में जीतना योगदान विंग कमांडर का रहा उतना ही स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल का भी |

पाकिस्तानी जेट्स पर रखी पैनी नज़र

27 फ़रवरी को जब कण्ट्रोल रूम में बैठी मिंटी अग्रवाल को पाकिस्तान से करीब 24 एफ-16, जेएफ-17एस और मिराज 5 विमानों को भारतीय सीमा की तरफ आते देखा तो बिना वक्त गवाए उन्होंने दो सुखोई और 2 मिराज को अलर्ट कर दिया | यहीं नहीं जब उन्होंने देखा की पाकिस्तान के तरफ से और भी जेट्स आ रहे है तो फ़ौरन उन्होंने 6 मिग्स को सबसे पास के एयरबेस (श्रीनगर) से उड़ान भरने को कहा | अचानक से आये भारतीय फाइटर जेट्स को देखर पाकिस्तान के फाइटर पायलट्स के होश उड़ गए | यही नहीं मिंटी ने विंग कमांडर को ये भी बताया की पाकिस्तान ने एफ-16 से हमला किया है जिसपर मीडियम रेंज की AIM-120C अडवांस मिसाइल लगी हैं |

मिंटी की सूझ-बुझ और उनके साहस से भारतीय विंग कमांडर्स पाकिस्तान के जेट्स को भारतीय सीमा से बाहर निकालने में कामयाब रहे और साथ ही उनका एक F-16 विमान भी बर्बाद कर दिया | ऑपरेशन के बाद सुरक्षा के मद्देनज़र स्क्वॉड्रन लीडर का नाम जाहिर नहीं किया गया था, लेकिन अब उन्हें बहादुरी का पुरस्कार मिल रहा है |

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •