विंग कमांडर अभिनंदन को मिल सकता है वीर चक्र

Wing_Commander_abhinandan-varthaman

रक्षा सूत्रों ने कहा कि विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान, जिन्हें पाकिस्तान में पकड़ लिया गया था और बाद में रिहा किया गया था, को भारत के शीर्ष सैन्य सम्मानों में से एक, वीर चक्र से सम्मानित किया जा सकता है। अभिनंदन के साथ, पांच मिराज -2000 फाइटर जेट्स के पायलटों को भी वायु सेना के पदक से सजाने की संभावना है।

वायु सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “वीरता पुरस्कार विजेताओं की अंतिम सूची को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से 14 अगस्त को मंजूरी मिलेगी। राष्ट्रपति द्वारा औपचारिक रूप से सूची को अनुमोदित किए जाने के बाद ही हम आम लोगों को पुरस्कारों के नामों का खुलासा कर सकते हैं।”

Vir Chakr

27 फरवरी को भारतीय सीमा से पाकिस्तान के लड़ाकू विमान एफ -16 को खदेड़ने के दौरान विंग कमांडर अभिनंदन पाकिस्तान की सीमा में चलें गए थे। जहाँ उनका विमान मिग -21 बाइसन पाकिस्तानी मिसाइल द्वारा नष्ट करने के कारन, मजबूरन अपने लड़ाकू जेट से बाहर इजेक्ट करके आना पड़ा था। इसके बाद पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने अभिनंदन को पकड़ लिया था, लेकिन लगभग 60 घंटे बाद वाघा सीमा से वापस भारत भेज दिया।

बता दे की सीमा पार करने से पहले विंग कमांडर वर्थमान ने अपने मिग -21 बाइसन से पाकिस्तान के एफ -16 को मार गिराया था । विशेषज्ञों का ऐसा मानना है कि मिग -21 बाइसन द्वारा एफ -16 को मार गिराने के ऐसी पहली घटना है।

भारत में वीर चक्र तीसरा सर्वोच्च युद्धकालीन सैन्य पुरस्कार है। परमवीर चक्र, महावीर चक्र के बाद वीर चक्र भारत का तीसरा सबसे बड़ा सैन्य पुरस्कार है। युद्ध के क्षेत्र में अदम्य साहस का परिचय देने पर इस पदक से सम्मानित किया जाता है।