100 करोड़वां टीका लगवाने वाले अरूण राय को आखिर पीएम मोदी ने क्यों लगाई फटकार ?

देश में कोरोना वैक्‍सीन  की डोज का आंकड़ा 100 करोड़ के पार हो गया है। 100 करोड़ वैक्‍सीन डोज का लक्ष्‍य हासिल करने कर लेने के मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी दिल्‍ली के राम मनोहर लोहिया अस्‍पताल पहुंचे। इस दौरान वह अस्‍पताल में स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों से मिले और उन्‍हें बधाई देने के साथ कई तरह के सवाल पूछे तो 100 करोड़ वैक्सीनेशन होने पर पीएम ने बोला की देश ने इतिहास गढ़ दिया।

नर्स क्रिस्टीना से की बात

पीएम मोदी जब आरएमएल अस्पताल में पहुंचे तो सबसे पहले उन्होंने वैक्सीनेशन सेंटर का जायजा लिया वहां पर उन्होंने नर्सिंग स्टाफ से बात की। इसके बाद उन्होंने उस नर्सिंग स्टाफ क्रिस्टीना जो मूल रूप से मणिपुर की रहने वाली है से मुलाकात की, क्रिस्टीना ने अब तक 15000 लोगों को वैक्सीनेट किया है। पीएम ने उनसे पूछा कि जब आप लोगों को वैक्सीनेट करती हैं उसके बाद क्या लोग किसी भी तरह की कंप्लेंट करते हैं? नर्स ने अपने जवाब में कहा नहीं, अभी तक किसी भी तरह की मेजर कंप्लेंट सामने नहीं आई है। पीएम ने उनके जवाब के बाद खुशी जाहिर की और बोला कि आप की मेहनत का ही नतीजा है कि भारत इस मुकाम को छू सका है।

इस बात पर पीएम ने जताई नाराजगी

कोरोना वैक्सीन लगवाने में 100 करोड़वां टीका लगाकर अपना नाम इतिहास में दर्ज करवाने वाले अरूण राय से बात करते वक्त पीएम मोदी ने नाराजगी जताई और ये नराजगी थी कि वो इतने देरी से क्यो टीके लगवा रहे है। अरूण राय ने बताया कि वो बनारस के रहने वाले है और लगातार योग करते है इसलिये उन्होने टीका नही लगवाया था लेकिन पीएम की प्रेरणा के बाद टीका लगवाने का संकल्प लिया और टीका लगवाने चले आये।

दिव्यांग छवि से सुना देशभक्ति का गाना

राम मनोहर लोहिया अस्पताल में पीएम मोदी ने जहां वर्कर डॉक्टर और नर्स से बात की तो दूसरी तरफ यहां आई दिव्यांग छवि से मिलने के बाद पीएम ने उससे देशभक्ति का गाना सुनाने को कहां जिसके बाद ए वतन के लोगों गीत गाकर बच्ची ने पूरे मौहाल को भक्तिमय कर दिया।

सिक्योरिटी गार्ड से मिल पूछे ये सवाल

प्रधानमंत्री वहां के सिक्योरिटी गार्ड से मिले जिसका नाम रमेश था। प्रधानमंत्री ने उनसे पूछा कि जिस वक्त लोग अपने को घर से नहीं निकलने दे रहे थे उस वक्त आप आकर यहां पर अपनी ड्यूटी कर रहे थे, कैसा महसूस करते हैं? रमेश ने कहा मेरे लिए यह गौरव की बात है और रमेश ने इस बात का भी जिक्र किया कि आपने चौकीदार लोगों का जो हौसला बढ़ाया है उसके लिए पूरी चौकीदार बिरादरी आपका कृतज्ञ है।

पीएम तकरीबन 15 मिनट पर अस्पताल में रुके और उसके बाद मेडिकल सुपरिटेंडेंट और दूसरे लोगों से बात करके वहां से अपने दूसरे कार्यक्रम के लिए निकल गये लेकिन पीएम का यूं आना ये बताता है कि कोरोना के खिलाफ उनके द्वारा छेड़ी गई जंग में वो इस तरह से हिस्सा ले रहे है।