सत्ता के मद से कोसो दूर हमारे प्रधान सेवक नमो

कहते है कि सत्ता का मद बहुत बुरा होता है और इस मद से कोई बच जाये अमूमन ऐसा होता नही लेकिन आज हम बात उस इंसान की करने जा रहें है जो सत्ता में 20 साल से बना हुआ है। आप हमारा इशारा समझ गये होगे कि हम बात देश के प्रधानसेवक मोदी जी की कर रहे हैं। जो लंबे समय से सत्ता में रहकर भी इस चकाचौंध से काफी दूर है बल्कि ये बोले कि साल दर साल सत्ता में रहते हुए मोदी जी उस वृक्ष की तरह हो गये है जो इंसानियत, संवेदनाओं जैसे फल से लदा होने के साथ साथ जनता के सबसे करीब तक झुका हुआ है। 20 साल पूरे होने पर जिस तरह से जनता से पीएम मोदी ने अपना संवाद साझा किया है उससे तो यही लगता है।

जनता-जनार्दन ईश्वर का रूप

पीएम मोदी के लिये जनता ईश्वर का रूप है खुद वो लिखते है बचपन से मेरे मन में एक बात संस्कारित हुई कि जनता-जनार्दन ईश्वर का रूप होती है और लोकतंत्र में ईश्वर की तरह ही शक्तिमान होती है। इतने लंबे कालखंड तक देशवासियों ने मुझे जो जिम्मेदारियां सौंपी हैं, उन्हें निभाने के लिए मैंने पूरी तरह से प्रामाणिक और समर्पित प्रयास किए हैं। आज जिस प्रकार देश के कोने-कोने से आप सबने आशीर्वाद और प्रेम बरसाए हैं, उसका आभार प्रकट करने के लिए आज मेरे शब्दों की शक्ति कम पड़ रही है!  देश सेवा, गरीबों के कल्याण और भारत को नई ऊंचाइयों पर ले जाने का हम सबका जो संकल्प है, उसे आपका आशीर्वाद, आपका प्रेम और मजबूत करेगा।

यह कोई दावा नहीं कर सकता कि मुझमें कोई कमी नहीं

पीएम मोदी की विनम्रता इस बात से झलकती है कि वो आज भी ये कहते है कि कोई व्यक्ति कभी यह दावा नहीं कर सकता कि मुझमें कोई कमी नहीं है। इतने महत्वपूर्ण और जिम्मेदारी भरे पदों पर एक लंबा कालखंड बिताया है। एक मनुष्य होने के नाते मुझसे भी गलतियां हो सकती हैं। यह मेरा सौभाग्य है कि मेरी इन सीमाओं और मर्यादाओं के बावजूद आप सबका प्रेम उत्तरोत्तर बढ़ रहा है। मैं अपने-आपको, आपके आशीर्वाद के योग्य, आपके प्रेम के योग्य बनाने के लिए निरंतर प्रयासरत रहूंगा। देशवासियों को एक बार फिर से विश्वास दिलाता हूं कि देशहित और गरीबों का कल्याण, यही मेरे लिए सर्वोपरि है और हमेशा सर्वोपरि रहेगा।

आपको ध्यान होगा कि खुद पीएम मोदी ने सत्ता में आने से पहले भी इसी तरह से बोला था कि गलती हो सकती है लेकिन जानकर उनकी सरकार किसी के साथ कुछ गलत करे वो नही होगा।  आज दिल्ली की सत्ता में 6 साल से अधिक वक्त से सत्ता चला रहे पीएम मोदी की नीतियों को देखकर तो यही लगता है कि उनकी कोशिश सिर्फ विकास ही विकास है और सबसे बड़ी बात ये कि दशकों के बाद ऐसा पीएम देश को मिले है जो सीधे जनता से जुड़े हुआ है। जो हम सबके लिये गर्व करने वाली बात है।

Leave a Reply