जब पीएम मोदी की माँ ने लिया था वादा कि तुम कभी रिश्वत नहीं लोगे

24 घंटे 7 दिन हमारे पीएम नरेद्र मोदी बस इसीलिये काम मे जुटे रहते है क्योंकि वो हर भारतवासी का वो सपना पूरा करना चाहते है कि भारत समूचे विश्व मे फिर से नबंर वन स्थान पर आ सकें, लेकिन इन सब कामों के बीच मे पीएम मोदी ने एक इटंरव्यू मे खोला है ऐसा राज जो पहले कोई नही जानता था।

 

‘Humans of Bombay’ नाम के फेसबुक पेज को दिए इंटरव्यू में पीएम मोदी ने अपने पुराने दिन याद किए हैं और बताया कि जब वो पहली बार गुजरात की कमान संभालने के लिये गुजरात आये तो पहले अपनी माँ से मिलने गया। “चारो तरफ जश्न जैसा माहौल था और शायद मेरी माँ के लिये वो बहुत बड़ा पल था वो बहुत खुश थी और खुश इस लिये थी कि मै गुजरात वापस आ गया था जबकि मै इससे पहले दिल्ली मे रहता था।

मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने से पहले मैं माँ से मिलने पहुंचा, जो मेरे भाई के साथ रहती थीं. अहमदाबाद पहुंचा तो चारों तरफ सेलेब्रेशन शुरू हो गया. मेरी माँ को पहले से पता लग गया था कि मैं राज्य का मुख्यमंत्री बनने जा रहा हूं. पीएम मोदी ने कहा, ‘जब मैं उनसे मिलने गया तो मेरी माँ ने मेरी ओर देखा और गले लगा लिया और मुझे कहा कि अच्छी चीज यह है कि अब तुम गुजरात वापस आ गए. यह एक मां का स्वभाव है। उन्हें कोई मतलब नहीं होता कि उनके आसपास क्या हो रहा है। वह अपने बच्चों के करीब रहना चाहती है। इसके बाद उन्होंने मुझसे कहा देख भाई मुझे नहीं पता कि तुम क्या करोगे, लेकिन मुझसे वादा करो कि तुम कभी भी रिश्वत नहीं लोगे, वह पाप कभी नहीं करोगे. इन शब्दों ने मुझ पर काफी असर डाला और मैं बताता हूं क्यों. एक महिला जिसने अपना पूरा जीवन गरीबी में काटा है, जिसके पास भौतिक सुख-साधन नहीं है, उसने ऐसे मौके पर मुझे रिश्वत नहीं लेने के लिए कहा इससे मुझे बहुत ताकत मिली। “

पीएम ने इस दौरान बताया कि जिस तरह की खुशी मैने अपनी माँ की आँख मे उस वक्त देखी थी वो पीएम बनने मे नही दिखाई दी । शायद मेरी माँ को लग रहा होगा कि एक बार फिर से मै उनसे दूर हो रह हूँ क्योकि माँ का ये स्वभाव होता है कि वे बच्चो को अपने से दूर होता देख नही सकती है।हाँ, ये जरूर है कि माँ की कही गई उन बातो को मैने हमेशा किसी उपनिदेश से कम नही समझा और आज भी उन बातो को ध्यान मे रखकर देश के लिये रातदिन काम करता हूँ और देश को आगे ले जाने के लिये सोचता रहता हूँ

शायद तभी तो देश आज हर वर्ग मे आगे बढ़ रहा है। क्योकि उसे एक ईमानदार कामदार मिल गया है।