वित्त मंत्री की घोषणा का आम आदमी पर असर क्या होगा?

Nirmala Sitharaman press conference

आर्थिक मंदी से उबारने, निवेश व रोजगार को बढ़ावा देने के लिए मोदी सरकार ने शुक्रवार को कॉरपोरेट सेक्टर और विदेशी निवेशकों को टैक्स रियायतों की सौगात दी। सुस्त अर्थव्यवस्था से परेशान सरकार ने घरेलू कंपनियों का कॉरपोरेट टैक्स 30 फीसदी से घटाकर 22 फीसदी किया। अब कुल प्रभावी कॉरपोरेट टैक्स 25.17 फीसदी हो गया है। इसके साथ ही कंपनियों को कोई और टैक्स नहीं देना होगा ।

मंदी से बचने के लिए सरकार ने कई बडे़ ऐलान किए हैं। वित्त मंत्री के एलान के बाद शेयर बाजार में रिकॉर्ड उछाल देखने को कल मिला । बीएसइ में लिस्टेड शेयरों ने दिन भर में लगभग सात लाख करोड़ की कमाई कर ली। कुछ विशेषज्ञों ने इसे मिनी बजट करार दिया है। जीएसटी काउंसिल की बैठक से पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इन फैसलों की जानकारी दी थी । यह छूट नयी घरेलू कंपनियों और मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों पर भी लागू होगी। नया टैक्स 1 अप्रैल 2019 से ही लागू होगा । सरकार इसे अध्यादेश के जरिये लागू करेगी।

माना जा रहा है कि सरकार के इन कदमों से कारोबार का विस्तार होगा। इससे रोजगार के नये अवसर पैदा होंगे। सरकार के इस ऐतिहासिक कदम से मेक इन इंडिया में बड़ा उछाल आने के साथ ही विदेशी निवेश भी आकर्षित होगा, निजी क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी और रोजगार के अवसर पैदा होंगे।

टैक्स कटौती से प्राइवेट सेक्टर को मजबूती मिलेगी| अनुमान है की प्राइवेट सेक्टर का निवेश जो हाल के समय में गिर रहा था, अब तेज़ी के साथ बढेगा | टैक्स में बचत के बाद कुछ कंपनियां खरीदारी बढाने के लिए सामान के दामों में कटौती भी कर सकती है| वहीँ कंपनियों में छटनी का सिलसिला भी रुकेगा और नए रोजगार के अवसर भी खुलेंगे | ऑटो सेक्टर में छाई मंदी का दौर हटेगा और ऑटो सेक्टर में ग्रोथ बढ़ने पर, रोज़गार के अवसर भी बढ़ सकते है |

वित्त मंत्री के एलान के बाद शेयर बाजार में पिछले 10 साल की सबसे बड़ी उछाल देखने को मिली । उम्मीद है बाज़ार की ये तेज़ी टिकेगी और अर्थव्यवस्था बेहतर होगी| सरकार के कदम से मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर को बूस्ट मिलने की उम्मीद है | और अब आशा है की कई विदेशी कंपनियां कम टैक्स का फायदा उठाने के लिए भारत आ सकती है | इसके साथ ही अब मेक इन इंडिया मुहीम को भी एक नयी जान मिलेगी, जो नए रोजगार के अवसरों को सृजित करेंगी|

शॉर्ट टर्म पैसा इन्वेस्ट करने वालों के लिए यह पैसा कमाने का बेहतर समय है | ऐसे लोग अभी पैसा लगाकर मार्केट से अच्छी कमाई कर सकते है | वही जो लोग एसआईपी के जरिये पैसा निवेश कर रहे है, उनको कुछ ख़ास लाभ अभी नहीं मिलेगा।