मोदी जी सत्ता में आए, लेकिन 5 साल में भारतीय नौसेना के लिए क्या लाए?

आज भारतीय नौसेना दिवस है। जब से मोदी सरकार ने देश की कमान संभाली है तब से ही भारत की तीनों सेना को मजबूत करने का काम पूरी तेजी के साथ हो रहा है। इसके लिये जल, थल, नभ को मजबूत करने के लिए मोदी सरकार नये नये रक्षा सौदा करने में लगी है। हिंद महासागर और अरब सागर से घुसपैठ को रोकने के लिये नौसेना को और मजबूत किया जा रहा है। जिसका परिणाम है कि भारतीय नौसेना आज दुनिया में चौथे स्थान पर पहुंच चुकी है। चलिये जानते है नौसेना के कुछ ऐसे हथियार के बारे में जिसके आगे दुश्मन पानी भरते हुए दिखाई देते है।

INS-Arihant

INS अरिहंत पनडुब्बी- जब से भारत के दुश्मनों ने अरिहंत पनडुब्बी का नाम सुना है तब से ही उनके होश उड़े हुए है। भारत की पहली पनडुब्बी है जिससे परमाणु मिसाइल का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसकी सबसे बडी खूबी ये है कि ये देश की पहली ऐसी पनडुब्बी है, जिसकी मारक क्षमता जल, थल और नभ में भी है। इसके साथ ये सबमरीन अग्नि मिसाइल से भी लैस है। इसकी स्पीड 750 किमी/घंटा से 3 हजार किमी/घंटा तक है।

INS कलवरी

INS कलवरी पनडुब्बी- यह पनडुब्बी भारी टारपीडो और एंटी शिप मिसाइल से लैस है, यह समुद्र के अंदर और सतह पर दोनों जगह से फायरिंग कर सकती है 565 टन की पनडुब्बी 50 से ज्यादा दिनों तक समुद्र के गहरे पानी में आसानी से रह सकती है। पानी के अंदर इसकी रफ्तार 20 नॉटिकल माइल यानी 40 किलोमीटर प्रति घंटे है। इसकी सबसे खास बात ये है कि इसका इंजन बिलकुल आवाज नही करता है जिससे दुश्मन इसे पकड नही सकता।

INS-Sumitra

आईएनएस सुमित्रा- भारतीय नौसेना का जांबाज हीरो अपने जज्बे और शक्ति का लोहा समूचा विश्व मान रहा है। भारतीय नौसेना में स्वदेश निर्मित पोत आईएनएस सुमित्रा भारत के पूर्वी समुद्र तटों की गश्ती में यह पोत महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। इंडियन नेवी में शामिल होने वाला यह पोत अपनी तरह के युद्धपोतों के बीच सबसे बड़ा है। यह मध्यम और शॉर्ट रेंज के आधुनिक हथियारों से लैस है। इसकी सबसे बड़ी बात ये है कि इससे लाइट वेट वाले हेलिकॉप्टर ध्रुव को भी ऑपरेट किया जा सकता है।

डोर्नियर विमान- डोर्नियर विमान नौसेना को और शक्ति प्रदान कर रहे है इस विमान में लगे राड़र से सागर की सीमा की निगरानी पहले से ज्यादा पुख्ता हो पाई है। सबसे बड़ी बात ये है कि ये विमान आज भारत में ही तैयार किये जा रहे है जिससे इनकी रखरखाव की लागत बहुत कम हो गई है।

आईएनएस चेन्नई- जंगी जहाज आईएनएस चेन्नई जब से नौसेना में शामिल हुआ है। तब से हमारी समुद्री ताकत पड़ोसी देशों के मुकाबले बढ़ गई है 60 फीसदी भारत में तैयार हुआ ये जंगी जहाज विशेश कवच सिस्टम से लैस है। इसके साथ साथ दुश्मन के राडार को चमका देने में ये सबसे ज्यादा क्षमता रखने में माहिर है। ब्रह्मोस मिसाइल से लैस इस पोत के जरिये हेलिकॉप्टर को भी ढोया जा सकता है।

इसी तरह आईएनएस कोलकाता, आईएनएस विशाखापत्तनम, आईएनएस इंफाल भी नौसेना को मजबूत करने में लगे हुए है। इन पोतो में तेजस विमान के साथ साथ और भी कई लडाकू विमानों के बेड़े दुश्मन को ये सोचने पर मजबूर करते है कि भारत से पंगा लेना मतलब अपने लिये कब्र खोदने जैसा है। यही नही आने वाले दिनो में भारत को रूस से चक्र पनडुब्बी मिलने वाली है जो पूरी तरह से हई वर्जन सबमरीन होगी। जिससे भारत की सीमा और मजबूत होगी। मतलब साफ है पीएम मोदी लगातार भारत की सेना को शक्तिशाली बनाने में लगे है क्योकि इतिहास गवाह है कि जब जब शक्ति का संतुलन बराबर रहा है तो युध्द भी नही होते बल्की आँख में आँख डाल कर बात होती है। मोदी जी के सत्ता में आने के बाद सागर की गहराई से सागर के उफान तक भारत का बढ़ गया है दबदबा।