पूर्वोत्तर राज्यों के लिये क्या किया पीएम मोदी ने, क्या आपको पता है?

देश की सत्ता की बागडोर जब मोदी ने सभांली थी तब उन्होने साफ कहा था कि देश का विकास तभी हो सकता है जब पश्चिम भारत के साथ साथ पूर्वी भारत का भी विकास हो| मोदी सरकार ने इसके लिये बिना भेदभाव के काम भी किया है जिसका जिक्र आज हम कर रहे हैं।

वैसे अगर आजादी के बाद मोदी सरकार के पांच सालों को हटा दिया जाये तो बाकी सरकारों के शासन मे देश का पूर्वी हिस्सा हमेशा विकास से कोसों दूर रहा है। लेकिन अब मोदी सरकार के आते ही पूरब का हिस्सा भी नई उमंग के साथ खिल रहा है।

ELCTRICTY

बिजली की व्यवस्था

वैसे तो सूरज पूरब से ही निकलता है और समूचे भारत को रौशन करता है, लेकिन इसके बाद भी जब अधेंरा होता था तो वहाँ रहने वाले लोग बिजली न होने के चलते उजाले से कट जाते थे| लेकिन लाइसंग गाँव मे बिजली पहुँचने के बाद अब गाँव-गाँव और शहर-शहर तक बिजली पहुंच चुकी है और वहाँ के लोग भी मुख्य धारा से जुड़ चुके है।

pm_modi_news

सड़क एवं वायुमार्ग से देश के दूसरे हिस्से से जुड़े पूर्वोत्तर राज्य

सबसे ज्यादा दिक्कत अगर पूर्वोत्तर राज्यों मे थी तो वो थी आवागमन की और वो इसलिये क्योकि ये इलाका इलाका ज्यादातर पहाड़ी और दुर्गम है| यहाँ सड़क व्यवस्था को बेहतर बनाने मे किसी भी सरकार ने तेजी नही दिखाई, लेकिन मोदी सरकार ने पूर्वोत्तर के सभी राज्यो मे सड़क व्यवस्था तो दुरूस्त की ही, साथ ही साथ इस इलाके मे देश का सबसे बड़ा बोगी बिल ब्रिज भी बनवा दिया, जिससे अरूणाचल की दूरी अब कुछ घंटों की ही हो गई है। वही ब्रह्मपुत्र नदी पर हजारिका ब्रिज बनने से असम के लोगो को बड़ी राहत मिली है। आने वाले दिनो मे अरूणाचल तक रेल पहुंचाने का काम भी मोदी सरकार के वक्त ही शुरू हो गया है। अरूणाचल मे हवाई अड्ड़ा बनाकर लोगों को बड़ी राहत भी दी है। इतना ही नही गाँव गाँव सड़क बनाने की स्पीड भी अब 20 किलो मीटर प्रति दिन हो गई है।

Prime_Minister_Narendra_Modi

पर्यटन उद्योग से रोजगार बढ़े

राज्य मार्गो को बेहतर बनाकर देश के हर कोने से आज पूर्वोत्तर राज्यो को जोड़ा गया है जिसके चलते इन राज्यो मे रोजगार भी बढ़ा है। खासकर पर्यटन उद्योग इस इलाके मे काफी तेज गति से बढ़ा है। सरकार के ऑकड़ो की माने तो पिछले पांच सालो मे 30 फीसदी पर्यटन का इजाफा हुआ है, जो अपने आप मे एक रिकार्ड है।

स्वास्थ्य के क्षेत्र मे छूए नये आयाम

स्वास्थ्य सेक्टर मे पूर्वोत्तर राज्यो की हमेशा से ही उपेक्षा की गई थी लेकिन मोदी सरकार के आते ही इन राज्यो मे भी नये नये अस्पतालो का निर्माण हुआ| पीएम मोदी ने एक ही दिन मे 50 हेल्थ और वेलनेस सेंटर का लोकार्पण करके अपना वायदा पूरा किया। वही आज की तारीख मे आयुष्मान योजना के तहत इन तीनो राज्यो मे लाखो लोग फायदा उठा रहे है|

खनिज संपदा का सदुपयोग

पूर्वोत्तर राज्यो मे खनिज तेल का बहुत भडांरण है और इसीलिये प्रधानमंत्री नुमालीगढ़ रिफाइनरी लिमिटेड की बायो डीजल रिफाइनरी और बरौनी-गुवाहाटी पाइपलाइन का शुभारंभ कर दिया गया है| यह पाइपलाइन पूर्वोत्तर को राष्ट्रीय गैस ग्रिड से जोड़ने का काम करेगी, इससे लोगो को रोजगार तो मिला ही है। साथ ही भारत के दूसरे राज्यो मे तेल पहुंचाने मे भी मदद मिली है।

मतलब साफ है कि मोदी जी ने जो वायदे पूरब से किये थे उन्हे पूरा करने मे वो सफल हुए हैं, और यही वजह है कि आज देश का ये कभी न पूछे जाने वाला इलाका भी जगमगाने लगा है और देश की तरक्की का गवाह बन रहा है।