धारा 370 हटने के बाद क्या बदला, पूछने वालों को गृह मंत्रालय की खरी खरी

जो लोग ये पूछते है कि धारा 370 हटाने के बाद कश्मीर में क्या बदला है उनके सवाल पर मोदी सरकार ने आज जवाब देते हुए लोकसभा में बताया कि आखिर धारा 370 हटने के बाद कश्मीर की फिजाओं में कैसे आतंक का खात्मा हुआ है तो पाक से घुसपैठ भी कम हुई है और ये सब भारतीय फौज की सजगता और धारा 370 के खत्म होने का ही असर है।

Special status of Jammu & Kashmir - J&K Constitution - Article 370

धारा 370 लगने के बाद जमकर ढेर हुए आतंकवादी

गृह मंत्रालय ने लोक सभा में जानकारी दी, 2020 में 244 आतंकी घटनाएं हुईं और 221 आतंकी मारे गए। 2019 में 594 आतंकी घटनाएं हुईं तो 157 आतंकी मारे गए। गृह मंत्रालय के मुताबिक पिछले साल 6 आम नागरिक मारे गए, 33 जवान शहीद हुए। 2019 में 5 आम नागरिक मारे गए, 27 जवान शहीद हुए। इसी तरह 2021 में फरवरी तक 15 आतंकी घटनाएं हुईं जबकि सेना की जवाबी कार्रवाई में 8 आतंकी मारे गए।

Kashmir: Several dead in clashes between Indian army and militants | News |  DW | 18.02.2019

पाक से घुसपैठ भी हुई कम

केवल आतंकी ही नही मारे गये बल्कि पाक की तरफ से भारत में आतंकियों की घुसपैठ भी कम हुई है बीते 4 साल के ऑकड़ो पर नजर डाले तो पिछले साल यानी 2020 में 99 बार घुसपैठ की कोशिश हुई जिसमें सिर्फ 51 आतंकी सीमापार से जम्मू कश्मीर में घुसपैठ कर सके। वहीं 2019 में 216 बार पाकिस्तान की तरफ से आतंकियों की घुसपैठ की कोशिश की गई जिसमें 138 आतंकियों की घुसपैठ की आशंका जताई गई है। जम्मू कश्मीर में ‘ऑपरेशन ऑल आउट’ चलने के बावजूद साल 2018 में 323 बार पाकिस्तान समर्थित आतंकियों की तरफ से घुसपैठ की कोशिश की गई। सुरक्षाबलों को आशंका है कि 143 आतंकी 2018 में घुसे थे। साल 2017 में सबसे ज्यादा 406 बार पाक खुफिया एजेंसी ISI की तरफ से आतंकी घुसपैठ की कोशिश कराई गई,  गृह मंत्रालय की रिपोर्ट की मानें तो इसमें 123 आतंकी घुसपैठ में सफलता पा सके हालांकि बाद में कई आतंकी ढेर कर दिए गए तो कई गिरफ्तार किए गये।

रोजगार के अवसर में हुआ सुधार

सरकार की माने तो धारा 370 खत्म होने के बाद सबसे बड़ा परिवर्तन ये हुआ कि घाटी में रोजगार के नये नये अवसर सामने आये खासकर घाटी के पुराने कल-कारखाने एक बार फिर से शुरू हुए तो सेब की खेती करने वालों को भी अच्छा खासा फायदा इस बार हुआ। आंकड़ों की माने तो करीब 25 फीसदी रोजगार के नये मामले सामने आये तो आतंक का खात्मा होने के चलते बाहरी राज्यो से भी 8 फीसदी ज्यादा निवेश इस बार हुआ जो ये बताता है कि घाटी अब दल रही है हाल में हुए चुनाव इसकी एक बड़ी कहानी बताता है।

एक तरफ आतंक का खात्मा हो रहा है तो दूसरी तरफ रोजगार में भी इजाफा देखा जा रहा है। जो ये बता रहा है कि नये भारत में नये कश्मीर का दर्शन होना शुरू हो गया है।