बहुत जल्‍द फाइटर जेट के कॉकपिट में नजर आ सकते है विंग कमांडर अभिनंदन

wg_commander_abhinandan

जाबांज विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान अब जल्द ही फिर से मिग-21 जैसा फाइटर जेट उड़ाते हुए नजर आ सकते है|

गौरतलब है कि 27 फरवरी को जम्‍मू कश्‍मीर में हुई डॉगफाइट में अभिनंदन वर्तमान ने पाकिस्‍तान एयरफोर्स (पीएएफ) का एफ-16 लड़ाकू विमान मार गिराया था| हालाँकि इस लड़ाई में उनका जेट मिग-21 विमान भी क्रैश हो गया था और अभिनंदन पाकिस्‍तान के हिस्‍से वाले कश्‍मीर में जा गिरे थे। जिसके बाद पाकिस्तानी सेना ने उन्हें बंदी बना लिया था| करीब तीन दिन तक पाक के कब्‍जे में रहने के बाद भारत की कुटनीतिक दबाव में आकर पाकिस्तान ने अभिनंदन को एक मार्च को सकुशल रिहा कर दिया था|

फ़िलहाल बेंगलुरु में हैं अभिनंदन

इंडियन एयरफोर्स (आईएएफ) के विश्वस्त सूत्रों की ओर से बताया गया है कि अभिनंदन इस समय बेंगलुरु स्थित इंस्‍टीट्यूट ऑफ एरोस्‍पेस मेडियन (आईएएम) में हैं। यहां पर 35 वर्षीय विंग कमांडर को अलगे कुछ हफ्तों में जरूरी टेस्‍ट्स से गुजरना होगा। इसके बाद इस बात के काफी अच्‍छे आसार है कि वह फिर से फाइटर जेट उड़ा सकेंगे। वर्तमान दुनिया के पहले ऐसे पायलट हैं जिन्‍होंने मिग-21 विमान से एफ-16 लड़ाकू विमान को ढेर कर दिया था। तब उस वक़्त दुनिया भर के विशेषज्ञ भी अभिनंदन के इस कारनामे से हैरान रह गए थे।

बीते दिनों टेस्‍ट्स के लिए दिल्‍ली आए थे अभिनन्दन

पिछले हफ्ते अभिनंदन दिल्‍ली में ही थे और यहां पर एयरफोर्स सेंट्रल मेडिकल कॉलेज इस्‍टैब्लिशमेंट, में उनका मेडिकल रिव्‍यू हुआ था। पाकिस्‍तान से लौटने के बाद वह इसी हस्पिटल में इलाज के लिए भर्ती हुए थे। जहाँ सेना के रिसर्च एंड रेफरल हॉस्पिटल के डॉक्‍टरों ने भी उनका चेक-अप किया था। तब डॉक्‍टरों को उनकी रीढ़ की हड्डी और पसलियों में चोट का पता लगा था। मालूम हो कि मेडिकल इस्‍टैब्लिशमेंट वह जगह है जहां पर थल सेना, वायुसेना और नौसेना की एविएशन विंग के पायलट्स को फ्लाइंग फिटनेस टेस्‍ट के लिए आना होता है।

अभिनन्दन के स्वस्थ्य में लगातार सुधार देखा जा रहा है

इंडियन एयरफोर्स (आईएएफ) के सूत्रों की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक अभिनंदन जैसे केस में जहां इजेक्‍शन इतने मुश्किल हालातों में हुआ हो, पायलट की हेल्‍थ को 12 हफ्तों तक निगरानी में रखा जाता है। इसके बाद ही उन्‍हें फ्लाइंग का क्‍लीयरेंस मिलता है। ऐसे स्थिति में मई के अंत तक इस बात का आसानी से पता लग जायेगा कि अभिनंदन मिग-21 जैसा फाइटर जेट उड़ा पाएंगे या नहीं। लेकिन जिस तरह से उनके स्वस्थ्य में लगातार सुधार देखा जा रहा है, उससे इस बात की संभावनाएं बढ़ गई हैं कि वह जल्‍द ही फिर से फाइटर जेट के कॉकपिट में होंगे। फिलहाल अभिनंदन श्रीनगर स्थित अपनी यूनिट में हैं जो कि एयरफोर्स की 51वीं स्‍क्‍वाड्रन है|

सर्वोच्‍च पुरस्‍कार मिलने के है आसार

जाबांज विंग कमांडर अभिनन्दन को उनके कारनामे के लिए युद्ध में दिए जाने वाले तीसरे सर्वोच्‍च पुरस्कार वीर चक्र से सम्‍मानित किए जाने की भी बात सामने आने लगी है| सूत्रों की मानें तो अभिनंदन का नाम वीर चक्र के लिए प्रस्‍तावित किया जा सकता है। 26 फरवरी को आईएएफ के 12 मिराज-2000 जेट्स ने पाकिस्‍तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्‍मद के अड्डों को निशाना बनाया था। उल्लेखनीय है कि बालाकोट एयर स्ट्राइक, पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी समूह द्वारा किये गए पुलवामा आतंकी हमले का जवाबी कारवाई था|

भारतीय वायु सेना ने दिया था पाक को जवाब

कई मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से सूत्रों के मुताबिक 27 फरवरी को जिस तरह से घटनाक्रम हुए उसके बाद अभिनंदन को युद्ध के समय दिए जाने वाले सम्‍मान की संभावना काफी बढ़ गई है। अधिकारियों की मानें तो अभिनंदन को वीर चक्र या फिर शौर्य चक्र से नवाज जा सकता है। पाकिस्‍तान अभी तक इस बात से इनकार करता आ रहा है कि उसका कोई एफ-16 विमान, 27 फरवरी को ढेर हुआ है। लेकिन आठ अप्रैल को आईएएफ की ओर से पाक को जवाब देने के लिए जो रडार इमेज रिलीज की गई थीं। उसमे साफ नजर आ रहा था कि अभिनंदन के मिग-21 को पाक के चार एफ-16 ने घेरा हुआ था।