हम हार-हार कर ही जीतने लगे है, हमने बहुत पराजय देखी है: पीएम मोदी

5 राज्यों के विधानसभा चुनाव की सरगर्मियों के बीच पीएम मोदी का एक इंटरव्यू लोगों के सामने आया है जिसमें उन्होने नए भारत के दर्शन करवाये तो ये भी बताया कि वो आज यहां तक कैसे पहुंचे है।

Image

हम हार-हारकर जीतने लगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2022 के अपने पहले इंटरव्यू में साफ किया कि आज उनकी पार्टी कैसे जनता का विश्वास पा रही है। उन्होने कहा कि हम हार-हार कर ही जीतने लगे है हमने बहुत पराजय देखे हैं, ज़मानत ज़ब्त होती देखी हैं। एक किस्सा भी उन्होने बताया कि एक बार जनसंघ के समय चुनाव हारने पर भी मिठाई बांटी जा रही थी, तो हमने पूछा की हारने पर मिठाई क्यों बांट रहे हैं? तब बताया गया कि हमारे तीन लोगों की ज़मानत बच गई। लेकिन इसके बावजूद कभी हौसला नही हारे।  लगातार देश को बनाने के लिए बेहनत करते रहे जिसका परिणाम है कि हम यहां तक पहुंच पाये है और यहां पहुंच कर भी हम जनता के लिए काम करने में लगे है और बिना अहंकार के देश को आगे ले जाने में हमारी सरकार रातदिन जुटी हुई है और इसीलिये 5 राज्य में हो रहे चुनाव में भी हमारी जीत पक्की लग रही है।

तमिल भाषा का जिक्र कर दिया बड़ा संदेश

भाषा पर बोलते हुए पीएम ने कहा कि मैं चीन के राष्ट्रपति को तमिलनाडु ले गया, फ्रांस के राष्ट्रपति को यूपी ले गया, जर्मन चांसलर को कर्नाटक ले गया। देश की शक्ति को उभारना, हर राज्य को प्रोत्साहन देना हमारा काम है। UN में मैं तमिल में बोलता हूं दुनिया को गर्व होता है कि भारत के पास दुनिया की सबसे पुरानी भाषा है। इसी तरह आज भारत विश्व में जिस तरह से भारतीय संस्कृति को दुनिया में बता रहा है वैसे पहले कभी नही बताया गया। इसका फायदा भी आज भारत को मिल रहा है तभी देश में विदेशी निवेश बढ़ रहा है तो पर्यटन में भी इजाफा दिख रहा है।

हम संवाद करते है हमला नहीं

इस दौरान पीएम ने लोकतंत्र की खूबसूरती के बारे में भी बताया उन्होने बोला कि आज मीडिया में एक शब्द बहुत सुनाई देता है कि मोदी जी ने विपक्ष पर हमला किया। लेकिन ये उनकी नियत नही है क्योकि लोकतंत्र में हमला नहीं बल्कि संवाद होता है और वो वही करते है, हां इसमे वाद विवाद जरूर होता है।

70 मिनट के इस इंटरव्यू में पीएम मोदी ने सभी सवालो का बेबाक तरीके से जवाब दिया और उन्होने उन लोगों के मुंह सिल दिये कि वो सवालों के जवाब नहीं देते बस अपनी ही सुनाते रहते है। ऐसे में अब यही लोग इस इंटरव्यू पर सवाल खड़ा कर रहे जो पूरी तरह से निराधार है