हम तो फकीर आदमी हैं, झोला लेकर चल पड़ेंगे…

एक दौर हुआ करता था जब सत्ता में काबिज नेताओं की संपत्ति का ब्योरा हमे सिर्फ चुनाव के वक्त मिलता था लेकिन मोदी सरकार जब से सत्ता में आई है तब से ही हर साल अपने मंत्रियों की संपत्तियों का ब्योरा का खुलासा जनता के सामने करती है जिससे देश कि जनता के सामने सरकार की सादगी साफ दिखाई देती है।

पीएम मोदी के पास नही है खुद का वाहन

देश के प्रधानसेवक जो 20 साल से सत्ता में जनसेवा कर रहे है लेकिन ये जानकर आपको हैरानी होगी कि इतने लंबे समय तक सत्ता में रखने के बाद भी उनके पास खुद का वाहन नही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करीब 2.85 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्तियों के मालिक हैं। उन्‍होंने अपनी कमाई का एक बड़ा हिस्‍सा टर्म डिपॉजिट्स और सेविंग्‍स अकाउंट्स में जमा कर रखा है। प्रधानमंत्री मोदी के पास कुल 1,75,63,618 रुपये की चल संपत्ति है और 30 जून को उनके पास 31,450 रुपये कैश में मौजूद थे। पिछले साल के मुकाबले उनकी चल संपत्ति 26.26% बढ़ी है। यह बढ़त वेतन से हुई बचत और फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट से मिले ब्‍याज को दोबारा निवेश करने से हुई है। प्रधानमंत्री की अचल संपत्तियों में कोई खास बदलाव नहीं हुआ है। मोदी के नाम पर गांधीनगर में एक घर है जिसकी कीमत 1.1 करोड़ रुपये है। पीएम मोदी पर कोई कर्ज नहीं है।

आम आदमी की तरह पीएम मोदी करते हैं इनवेस्ट

जिस तरह देश का आम नागरिक अपनी सैलरी से बचत करता है ठीक उसी प्रकार से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी करते है। पीएम के सेविंग्स अकाउंट में 3.38 लाख हैं। वहीं, SBI की गांधीनगर शाखा में उन्होंने फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट (FD) कराया हुआ है जिसकी वैल्यू पिछले साल के 1,27,81,574 रुपये के मुकाबले बढ़कर अब 1,60,28,039 रुपये हो गई है। इसके अलावा पीएम मोदी ने लाइफ इंश्‍योरेंस, नेशनल सेविंग्‍स सर्टिफिकेट्स यानी NSC और इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर बॉन्‍ड्स में निवेश किया हुआ है। उन्‍होंने NSCमें ज्‍यादा पैसा लगाया है। मोदी के पास रु 8,43,124 के NSC हैं। वहीं, बीमा का प्रीमियम हर साल 1,50,957 रुपये जाता है। जनवरी 2012 में उन्‍होंने 20 हजार रुपये का इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर बॉन्‍ड खरीदा था जो मैच्‍योर नहीं हुआ है।

पीएम मोदी की संपत्ति का ब्योरा देखकर उनकी सादगी का पता चलता है देश के इतने बड़े पद में रहने के बाद भी किस तरह वो अपने वेतन से ही छोटे छोटे बचत करके आने वाले कल के लिये सोच रहे है और जनता को छोटी छोटी बचत के लिये एक सीख भी दे रहे है। ऐसा नही कि पीएम सिर्फ बचत ही करते है आपदा के वक्त सबसे पहले पीएम मोदी ही अपने वेतन से पैसा जनहित में देते है। कोरोना काल हो या फिर इससे पहले पीएम मोदी ने अपनी सैलरी से कई बार जनहित में पैसा दान किया है। 2019 में ही पीएम मोदी को साउथ कोरिया में सियोल पीस प्राइज़ दिया गया था तब उन्होंने इसके साथ मिली 1.3 करोड़ की राशि को क्लीन गंगा मिशन में दान की थी। हाल ही में प्रधानमंत्री के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान उनको मिली स्मृति चिन्हों की नीलामी में 3.40 करोड़ रुपये एकत्र किए गए थे। जिसे नमामि गंगे योजना में दान खुद पीएम ने कर दिया था ऐसी कई घटना है जब पीएम मोदी ने मिली रकम को दान में दे दिया है। आंकड़ों पर नजर डाले तो पीएम ने अभी तक करीब 103 करोड़ रूपये की रकम को देशहित में दान में दिया है। जो ये बताती है कि पीएम राष्ट्र को अपना परिवार समझते है तभी तो अपना सबकुछ उसपर न्योछावर करते है।

Leave a Reply