देश में दिसंबर तक पूरा हो जाएगा कोरोना टीकाकरण का काम, स्वास्थ्य मंत्रालय ने तैयार किया पूरा रोडमैप

कोरोना महामारी के बीच देश में तेजी से टीकाकरण किया जा रहा है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि भारत में टीकाकरण का काम दिसंबर तक पूरा कर लिया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्रालय ने अब तक वैक्सीन की 216 करोड़ खुराक के उत्पादन का रोडमैप तैयार किया है। वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास फिलहाल 1.84 करोड़ से अधिक कोरोना वैक्सीन की खुराक उपलब्ध है। मंत्रालय ने आगे कहा कि उन्हें अगले तीन दिनों में तीन लाख वैक्सीन की खुराक और प्राप्त हो जाएगी।

केंद्र सरकार ने अब तक मुफ्त चैनल और प्रत्यक्ष राज्य खरीद के माध्यम से राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 22.46 करोड़ से अधिक वैक्सीन की खुराक प्रदान की है।

 

बता दें कि पिछले हफ्ते केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा था कि भारत 2021 के अंत तक कम से कम अपनी सभी वयस्क आबादी का टीकाकरण करने की स्थिति में होगा। उन्होंने आगे आश्वासन दिया था कि वर्तमान में देश की स्वास्थ्य सुविधाओं में तेजी से सुधार किया जा रहा है कि कोरोना वायरस का अगला म्यूटेंट फिर से आ सकता है। भविष्य में यह बच्चों के लिए खतरा बन सकता है।

 

21 मई को एक कोरोना की समीक्षा बैठक के दौरान, केंद्रीय मंत्री ने कहा था कि अगस्त और दिसंबर 2021 के बीच भारत 216 करोड़ वैक्सीन की खुराक खरीद लेगा। जबकि इस साल जुलाई तक 51 करोड़ खुराक की खरीद की जाएगी।

 

जून महीने में उपलब्ध हो जाएगी रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-वी

 

गौरतलब है कि कोरोना के खिलाफ जंग में अगले महीने से देश में एक और वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगी। रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-वी जून महीने के दूसरे हफ्ते से देश में इस्तेमाल के लिए उपलब्ध होगी। यह वैक्सीन देश में सबसे पहले अपोलो अस्पताल के जरिए उपलब्ध होगी। अपोलो ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स ने इसे लेकर घोषणा की है कि उसके देशभर के अस्पतालों में जून के दूसरे हफ्ते से रूस की स्पूतनिक वी वैक्सीन का टीकाकरण व्यापक पैमाने पर शुरू हो जाएगा।