अमेरिकी रिपोर्ट में खुलासा / भारत के खिलाफ F-16 विमान का इस्तेमाल करने पर अमेरिका ने पाकिस्तान को लगाई थी फटकार

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

F-16 फाइटर जेट का गलत इस्तेमाल पर अमेरिका ने पाकिस्तान को लगाई थी फटकार

बालाकोट में जैश के ठिकानों पर भारत की वायुसेना द्वारा किये गए हमले पर पाकिस्तान की वायुसेना ने जवाबी करवाई करने की कोशिश की थी। पकिस्तान ने अपने फाइटर प्लेन F-16 का इस्तेमाल किया था, जो उसे अमेरिका से एक समझौते में मिला हुआ है। अब अमेरिकी मीडिया ग्रुप ‘यूएस न्यूज एंड वर्ल्ड रिपोर्ट’ ने बुधवार को यह खुलासा किया कि अमेरिका ने भारत के खिलाफ F-16 फाइटर जेट्स के इस्तेमाल के लिए पाकिस्तान को अगस्त में फटकार लगाई थी। रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रम्प प्रशासन की एक शीर्ष अफसर ने F-16 के इस्तेमाल पर सवाल उठाते हुए पाकिस्तानी वायुसेना के प्रमुखों को पत्र भी लिखा था। इसमें पाकिस्तान पर बिना जानकारी दिए एफ-16 जेट के इस्तेमाल का आरोप लगाया गया था। अफसर ने इसे दोनों देशों के बीच साझा सुरक्षा समझौते का उल्लंघन बताया था।

सूत्र के मुताबिक, पत्र में कहा गया है कि पाकिस्तान ने F-16 विमानों का इस्तेमाल किया, जिसमें अमेरिकी मिसाइलें लगी हुई थीं। अमेरिका और पाकिस्तान के बीच यह विमान समझौता इन शर्तों के साथ हुआ कि पाकिस्तान, इन विमानों का इस्तेमाल युद्ध जैसे हालात में नहीं करेगा।

इस पत्र द्वारा फरवरी के बाद से अमेरिका की ओर से पहली प्रतिक्रिया है, जिसमे अमेरिका ने अपनी चिंताएं व्यक्त की हैं और कहा है कि पाकिस्तान ने नियमों के उल्लंघन कर F-16 का उपयोग कैसे किया।

गौरतलब है कि पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने फरवरी में कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों पर हमला किया था। इस आतंकी हमले के 13 दिन बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट स्थित आतंकी ठिकानों पर बम बरसाए थे। इसके जवाब में पाकिस्तानी वायुसेना ने F-16 विमान भेजकर भारत के सैन्य बेसों को मिसाइलों से निशाना बनाने की कोशिश की थी। जवाबी कार्रवाई में भारतीय वायुसेना के कमांडर अभिनंदन वर्तमान ने एक F-16 जेट मार गिराया था। भारत ने इसे युद्ध की पहल बताते हुए F-16 के इस्तेमाल की शिकायत अमेरिका से की थी।

बता दे कि अमेरिका ने पाकिस्तान को F-16 विमान तय समझौते के तहत दिए हैं। इसके तहत पाक सरकार बिना अमेरिका को जानकारी दिए जेट्स का इस्तेमाल नहीं कर सकती। F-16 का इस्तेमाल किसी देश के खिलाफ युद्ध भड़काने के लिए सीधी कार्रवाई में भी नहीं किया जा सकता। इसके अलावा पाकिस्तान को F-16 जेट्स के ठिकाने बदलने की भी जानकारी अमेरिका को देनी होती है।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •