राहुल गाँधी के ‘डंडा अटैक’ बयान की निंदा करने पर लोकसभा में हंगामा, मंत्री की ओर बढ़े कांग्रेसी सांसद

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कांग्रेस नेता राहुल गांधी के दिल्ली की चुनावी रैली में पीएम नरेंद्र मोदी पर ‘डंडा अटैक’ वाले बयान पर संसद में आज शुक्रवार को भी संग्राम जारी रहा। गुरुवार को खुद पीएम मोदी ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष पर इस बयान को लेकर तंज कसा था, तो शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने एक सवाल का जवाब देने के दौरान राहुल के पीएम मोदी वाले बयान पर अलोचना कर डाली। हर्षवर्धन के इस बयान से कांग्रेस के सांसद इस कदर उत्तेजित हो गए कि वे हर्षवर्धन की सीट की ओर बढ़ गए। विपक्षी सांसदों ने केंद्रीय मंत्री को घेर लिया। इसी बीच एक सांसद आक्रामक ढंग से डॉ हर्षवर्धन के बहुत नजदीक आ गए हंगामे के कारण स्पीकर ने सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी। बीजेपी ने विपक्षी सांसदों के इस व्यवहार को गुंडागर्दी कारर दिया और आरोप लगाया कि राहुल गांधी के इशारे पर हर्षवर्धन के साथ हाथापाई की कोशिश की गई।

गौरतलब है कि राहुल गांधी ने अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड में मेडिकल कॉलेज के मुद्दे पर सवाल किया। स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन जब राहुल गांधी के सवाल का जवाब देने उठे तो उन्होंने राहुल गांधी की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए इस्तेमाल अभद्र भाषा की निंदा की। उन्होंने कहा कि राहुलजी का जवाब देेन से पहले मैं उनकी बेहद आपत्तिजनक शब्दों की कड़ी निंदा करता हूं और पूरे सदन से इसकी निंदा करने की अपील करता हूं। इस पर कांग्रेसी खेमा उबल पड़ा और कांग्रेसी सांसद हर्षवर्धन की तरफ दौड़ पड़े। बीजेपी सांसदों प्रह्लाद जोशी और जगदंबिका पाल ने कांग्रेसी सांसदों पर सदन में गुंडागर्दी करने का आरोप लगाया।

हर्षवर्धन से धक्का-मुक्की करने की कोशिश?

संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि कांग्रेसी सांसदों ने हर्षवर्धन को घेरकर उनसे धक्का-मुक्की करने की कोशिश की। जोशी ने कहा, ‘राहुल गांधी के उकसाने पर वो डंडे का रास्ता अपना रहे थे। यह डॉक्टर हर्षवर्धन के साथ दुर्व्यवहार करने की कोशिश थी। यह कांग्रेस की निराशा और गुंडागर्दी को दिखाता है।’ वहीं, बीजेपी सांसद जगदंबिका पाल ने कहा कि कांग्रेस सांसद का रवैया लोकतंत्र के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंंने कहा, ‘केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन राहुल गांधी का बयान पढ़ रहे थे, उसी समय कांग्रेस सांसद मनिकम टैगोर उनकी तरफ बढ़े। यह देश के लोकतंत्र के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है।’

पूर्व प्रधानमंत्री के पुत्र होकर एक प्रधानमंत्री पर ऐसा कहा, हैरान हूं: हर्षवर्धन

हर्षवर्धन ने शोर-शराबे के बीच राहुल का बयान पढ़ना जारी रखा। उन्होंने कहा, ‘राहुलजी ने कहा कि छह महीने बाद इस देश का युवा नरेंद्र मोदी को डंडे मार-मारके देश के बाहर कर देंगे।’ उन्होंने कहा कि आखिर जिस राहुल गांधी के पिता खुद प्रधानमंत्री रहे हों, वो किसी दूसरे प्रधानमंत्री के लिए इस तरह की अभद्र भाषा का प्रयोग कैसे कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री ने भी दिया था जवाब

प्रधानमंत्री ने भी लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर बोलने के दौरान राहुल के इस बयान पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि जिस तरह उन्होंने गालियां सुन-सुनके खुद को गाली प्रूफ बना चुके हैं, इसी तरह अब सूर्य नमस्कार के जरिए अपनी पीठ को डंडे की चोट बर्दाश्त करने को तैयार कर लेंगे। उन्होंने तंज कसते हुए इस बात के लिए राहुल का आभार जताया कि उन्होंने डंडे मारने से छह महीने पहले बता दिया, इससे उन्हें तैयारी करने का मौका मिल जाएगा।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •