हंस पड़े केंद्रीय रेल मंत्री पियूष गोयल जब लाल किले से PM मोदी ने की भारतीय रेल विकास की सराहना

PM MODI FROM RED FORT

बीते कल में समूचे भारत के वासियों ने हर्ष और पुरे गर्व के साथ देश का 73वां स्वतंत्रता दिवस मनाया | इसके साथ ही लाल किले पर PM मोदी ने लगातार 6ठी बार झंडोतोलन किया और देश को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दी | पर सबसे खास रहा लाल किले से दिया गया उनका भाषण | और हर साल की तरह इस साल भी मोदी जी का पुर भाषण सिर्फ देश और जनता के विकास पर निर्धारित था |

बीते सालों में देश में क्या-क्या प्रगति हुआ और आगे आने वाले समय में देश में और क्या-क्या विकास होंगे इन सब के बारे में मोदी जी ने लाल किला से पुरे देश को बताया | इसके साथ ही मोदी जी ने भारतीय रेल के विकास की भी बात कही और वंदे भारत एक्स प्रेस का जिक्र किया | गौरतलब है की बीते कुछ समय में भारतीय रेल ने विकास का एक नया दौर देखा है | भारतीय रेल के विकास का उदहारण देते हुए मोदी ने कुछ ऐसा कहा जिससे सुनने के बाद लाल किले के प्रांगन में बैठे केंद्रीय रेल मंत्री पियूष गोयल खिलखिला कर हंस पड़े | चलिए आपको बताते है की आखिर ऐसा क्या कह दिया मोदी जी ने की पियूष गोयल की हंसी छुट गयी |

दरअसल लाल किले से देश को संबोधित करते हुए और देश के विकास की बात करते हुए मोदी जी ने कहा ‘इससे पहले अगर कागज पर कोई निर्णय लिया जाता था कि एक क्षेत्र में रेलवे स्टेशन बनाया जाएगा, तो सालों तक लोगों में सकारात्मकता बनी रहती थी…. अब समय अब बदल गया है. लोग स्टेशन से संतुष्ट नहीं हैं. वे तुरंत पूछते हैं “वंदे भारत एक्सप्रेस हमारे क्षेत्र में कब आएगी?”

PM मोदी के मुख से जैसे ही ये शब्द निकले तभी केंद्रीय मंत्री जीतेन्द्र सिंह ने अपने पास बैठे केंद्रीय रेल मंत्री पियूष गोयल से कुछ कहा जिसे सुनते ही गोयल हंस पड़े | अब गोयल की हंसी के पीछे क्या कारन है ये तो गोयल ही बता सकते है लेकिन हम अनुमान लगा सकते है की भारतीय रेल की तेज विकास की सराहना वो भी प्रधानमंत्री द्वारा शायद यही वजह रही हो गोयल के खुशनुमा हंसी की |