सीआरपीएफ कैंप पर हुए हमले का मास्टरमाइंड को यूएई ने भारत के हवाले किया

CRPF_Attack_at_lethpora

आतंकवाद के खिलाफ संघर्ष में भारत को एक और बड़ी सफलता हाथ लगी है| बड़ी खबर ये है कि जम्मू-कश्मीर स्थित पुलवामा के लैथापोरा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) कैंप पर हमले का साजिशकर्ता अब भारत की गिरफ्त में है| इस सन्दर्भ में एक सरकारी अधिकारी ने बताया कि साल 2017 में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल कैंप पर हुये हमले का साजिशकर्ता जैश-ए-मोहम्मद आतंकी निसार अहमद तांत्रे को संयुक्त अरब अमीरात (UAE) ने भारत के हवाले कर दिया है|

मालूम हो कि निसार अहमद को एनाइए यानी राष्ट्रीय जांच एजेंसी द्वारा राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित हवाईअड्डे पर गिरफ्तार किया गया| वह इससे पहले 1 फरवरी को संयुक्त अरब अमीरात (UAE) चला गया था| मंगलवार रात को उसकी गिरफ्तारी, UAE द्वारा डिपोर्ट किये जाने के बाद संभव हो पायी|

बता दें कि निसार अहमद वर्क वीजा के आधार पर भागने की फिराक में था| कई मीडिया रिपोर्ट्स के सूत्रों के हवाले से यह बताया जा रहा है कि तांत्रे का भाई, नूर मोहम्मद तांत्रे भी जैश-ए-मोहम्मद का कमांडर था, जिसे बीते साल सैन्य कार्रवाई में मार गिराया था|

उल्लेखनीय है कि लैथापोरा स्थित CRPF कैंप पर 30-31 दिसंबर 2017 की रात को हमला हुआ था| जिस हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 5 जवान शहीद हो गए थे| हमले के बाद इसकी जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी| आतंकी संगठन का कहना था कि यह फिदायीन हमला उसके आतंकी कमांडर नूर त्राली की मौत का बदला लेने के लिए किया गया है| इससे पहले भी 26 दिसंबर को सैन्य कार्रवाई में 3 फीट के आतंकी और जैश कमांडर नूर त्राली को मुठभेड़ में मार गिराया था| जो घाटी में बुरहान बानी के बाद आतंक का दूसरा नाम बना हुआ था| लिहाजा इस क्रम में निसार अहमद का भारत के हवाले किया जाना, देश के लिए बड़ी सफलता के रूप में जोड़कर देखा जा रहा है|