घुटनो पे आया ट्विटर मानी भारत सरकार की बात

इंटरनेट मीडिया से जुड़े नए आइटी नियमों के पालन में आनाकानी कर रही ट्विटर ने लगभग सभी प्रमुख नियमों का पालन करना शुरू कर दिया है। अपनी अकड़ ढीली करते हुए माइक्रोब्लागिंग साइट ने स्थानीय ग्रीवांस ऑफिसर की नियुक्ति के साथ भारत में अपने पते को भी सार्वजनिक कर दिया है। वहीं, पिछले एक महीने में नियमों के पालन की रिपोर्ट भी प्रकाशित की गई है। ट्विटर ने अपनी वेबसाइट पर ये सभी जानकारी दी है।

विनय प्रकाश भारत में शिकायत अधिकारी नियुक्त

ट्विटर ने विनय प्रकाश को भारत में अपने स्थानीय ग्रीवांस ऑफिसर (शिकायत अधिकारी) के रूप में नियुक्त किया है। ट्विटर वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक यूजर्स किसी तरह की शिकायत के लिए विनय प्रकाश से ई-मेल के जरिए संपर्क कर सकते हैं। ट्विटर ने भारत में अपने संपर्क का पता भी जाहिर कर दिया है जो बेंगलुरु में स्थित है।

ट्विटर ने शुरू किया आईटी नियमों का पालन

कंपनी ने गत 26 मई से लेकर गत 25 जून के दौरान की कंप्लायंस रिपोर्ट भी प्रकाशित की है। इस प्रकार, गत 26 मई को लागू होने वाले नए आईटी नियम से जुड़े तीन प्रमुख निर्देशों का पालन ट्विटर ने शुरू कर दिया है। ट्विटर की तरफ से इन नियमों के पालन नहीं करने से ट्विटर ने इंटरमीडिएरी का दर्जा खो दिया था। नए आइटी नियमों के मामले में अदालत ने भी पाया कि ट्विटर ने सरकार के निर्देशों की अवहेलना की है। अदालत ने कहा था कि सरकार ट्विटर के खिलाफ अपने हिसाब से कार्रवाई कर सकती है।

आइटी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने ट्विटर को दिया साफ संदेश

दो दिन पहले नए आइटी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने ट्विटर को साफ संदेश देते हुए कहा था देश का कानून सर्वोपरि है। देश में रहने वाले किसी भी व्यक्ति या कंपनी को उन्हें मानना ही होगा। दूसरी तरफ, रविवार को वैष्णव ने नए आइटी नियमों की समीक्षा की। देशी सोशल मीडिया प्लेटफार्म कू को ज्वाइन करते हुए वैष्णव ने कहा कि नए आइटी नियम यूजर्स के सशक्तिकरण के साथ उन्हें सुरक्षा प्रदान करने वाले हैं और इन नियमों से भारत में एक जिम्मेदार इंटरनेट मीडिया का माहौल तैयार होगा।

An Ias Officer Who Turned Entrepreneur And Rajya Sabha Member Now Rail And  It Minister All You Need To Know About Ashwini Vaishnaw - सफरनामा: आईएएस से  उद्यमी, फिर नेता, जानें नए

मतलब साफ है कि झुकती है दुनिया झुकाने वाला चाहिये और भारत सरकार में ये खासियत कूट कूट के भरा हुआ है फिर वो विदेश नीति की बात हो या फिर घरेलू मामले भारत अब वही करता है जो राष्ट्रहित के लिये फायदेमंद होता है। जिसका नतीजा विश्व में दिखने भी लगा है, तभी तो विश्व में भारत की साख बिलकुल बदल गई है।