तेज दौड़ने के लिये नये भारत में परिवहन व्यवस्था छू रहे नये आयाम

विकास की एक और इबारत आज लिखी गई जब देश के पीएम नरेंद्र मोदी खुद वायुसेना के प्लेन हरक्यूलिस से पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर उतरे। क्योंकि ये नये भारत की ताकत बता रहा था कि आज भारत विकास की ऐसी गाथा लिख रहा है जिसमें सड़कों पर ना केवल वाहन तेज गति से चल सकते है बल्कि फाइटर प्लेन उड़ान भर सकते है तो उतर भी सकते हैं।

पूर्वांचल एक्सप्रेस आम लोगो के लिये खुला

कहते है उस देश का विकास तेजी के साथ होता है जिस देश की परिवहन व्यवस्था बेहतर होती है। और आज मोदी राज के 7 सालो में परिवहन को लेकर बड़े बड़े कदम उठाये जा रहे है इसी क्रम में पीएम मोदी ने आज पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का उद्घाटन किया और बोला कि आज देश तेजी के साथ आगे चल रहा है। कोरोना काल के बाद भी योजनाओं को तय समय में पूरा होना ये बताता है कि सरकार अपना काम करने में बिलकुल भी नहीं रुकी। इतना ही नहीं उन्होने बोला कि आने वाले दिनो में देश में ऐसा कई हाइवे आप देख सकेंगे जो हर तरह की सुविधाओं से लैस होगे।

परिवाहन व्यवस्था को दुरूस्त करती मोदी सरकार

ऐसा नहीं कि ये केवल मैदानी इलाके में हो रहा हो बल्कि पाक,चीन सीमा पर भी तेज रफ्तार से सड़को का निर्माण हो रहा है। एक ऑकड़ों के मुताबिक लद्दाख से अरूणाचल के बीच में ही 62 ब्रिजो का निर्माण किया गया है तो लद्दाख में पैंगोंग झील तक सड़का निर्माण कर दिया गया है। अटल टनल के शुरू होने से जहां चीन सीमा तक पहुंचने में फौज को काफी राहत हो रही है तो अरुणाचल प्रदेश के नूरानांग में सेला सुरंग भी पूरा तरह से तैयार होने के कगार में है जिससे अरूणाचल में आने जाने का सफर और आसान हो जायेगा। ऐसा नहीं कि ये काम सिर्फ महात्वपूर्ण जगहों पर हो रहे हो, गांव गांव भी सड़के बनाई जा रही है जिससे तेज गति से आवागमन हो सके।

नये भारत की ये तस्वीर ही तो बता रही है आपके एक वोट ने कैसे भारत का भाग्य बदल कर रख दिया है और सुस्त स्पीड में चलने वाला भारत अब भागने लगा है।