श्रद्धालुओं के आकर्षण का नया केंद्र बना अयोध्या

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अयोध्या में मंदिर बनाने के फैसले के बाद यहाँ श्रद्धालुओं की भीड़ बढती ही जा रही है| सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने मानो श्रद्धालुओं की आस्था मे नयी जान डाल दी हो| 2019 में अयोध्या में घरेलू श्रद्धालुओं की संख्या दो करोड़ को पार कर गई।

उत्तर प्रदेश सरकार के आंकड़ों के अनुसार, राज्य में घरेलू और विदेशी पर्यटकों में 87% की वृद्धि देखी गई, जिसका मुख्य कारण पिछले साल प्रयागराज में आयोजित ‘कुंभ’ है। आंकड़ों के मुताबिक, 2018 में यूपी आए लगभग 29 लाख पर्यटकों की तुलना में पिछले साल 54 करोड़ से अधिक पर्यटक आए थे। विदेशी पर्यटकों में पिछले साल करीब 25% की बढ़ोतरी हुई और यह 47 लाख तक पहुंच हुई। आपको बता दें कि बीते साल प्रयागराज में आयोजित हुए कुंभ में 24 करोड़ पर्यटक पहुंचे थे।

मथुरा-वृंदावन में बढ़े टूरिस्ट

बीते साल यानी 2019 में 2.01 करोड़ घरेलू श्रद्धालु अयोध्या आए थे, 2018 में यह आंकड़ा 1.92 करोड़ था। वहीं मथुरा-वृंदावन में भी घरेलू आगंतुकों की संख्या में वृद्धि हुई है। 2018 में यहां आने वाले घरेलू पर्यटकों की संख्या 2.24 करोड़ थी, जोकि 2019 में बढ़कर 2.42 तक पहुंच गई। जाहिर है लोगों कि दिलचस्पी मथुरा-वृंदावन मे भी बढ रही है|

अयोध्या में बढ़ेगी तीर्थयात्रियों की दिलचस्पी!

यूपी सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘पिछले साल नवंबर में आए राम मंदिर के फैसले को लेकर अयोध्या में पर्यटकों और तीर्थयात्रियों की दिलचस्पी बढ़ गई थी। दिवाली पर होने वाले वार्षिक दीपोत्सव कार्यक्रम ने भी लोगों की रुचि बढ़ाई। हमें उम्मीद है कि इस साल भी श्रद्धालुओं की संख्या में वृद्धि होगी क्योंकि राम मंदिर का निर्माण शुरू होने वाला है।’

प्रयागराज पहुंचे 11.7 लाख विदेशी पर्यटक

दूसरी ओर ताजनगरी आगरा घूमने पहुंचने वाले घरेलू पर्यटकों की संख्या बीते साल 91.85 लाख रही थी, वहीं विदेशी पर्यटकों की संख्या 16.8 लाख रही। विदेशी पर्यटकों की सर्वाधिक संख्या वाला दूसरा और तीसरा स्पॉट क्रमशः प्रयागराज और वाराणसी रहा। प्रयागराज में जहां 11.7 लाख विदेशी पर्यटक पहुंचने, वहीं वाराणसी पहुंचने वाले विदेशी पर्यटकों की संख्या 3.5 लाख रही।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •