आज की रात 800 साल बाद, बृहस्पति और शनि ग्रह आपस में आयेंगे बेहद नजदीक

साल 2020 में दिसंबर का महीना खगोल प्रेमियों के लिए बहुत ही खास है। शाम जल्दी होती है और शाम ढलते ही पश्चिम दिशा बृहस्पति और शनि ग्रहों के करीब में आने के नजारों का खगोल प्रेमी दिल से लुत्फ उठा रहे हैं। इसी क्रम में 21 दिसंबर को बृहस्पति और शनि ग्रहों के बीच की कोणीय दूरी लगभग 0.06 डिग्री रह जाएगी। ये दोनों ग्रह इतने करीब में आ जाएंगे कि एक-दूसरे में मिलते हुए दिखाई देंगे। यानी साल की सबसे लम्बी रात को आसमान में गुरु-शनि का मिलन होगा जो अपने आप में बहुत रोचक क्षण होगा।

आज गुरू शनि होगे सबसे करीब

बृहस्पति और शनि ग्रह के मिलन की अद्भुत खगोलीय घटना लगभग 400 वर्षों बाद देखने को मिलेगी। इससे पहले 1923 में ये दोनों ग्रह इतने करीब में आये थे। अब 15 मार्च, 2080 की रात को बृहस्पति और शनि को इतने करीब से देखा जा सकेगा। वर्ष 2020 में न जाने कितने ऐसे घटनाये हुई हैं, जो की मानव सभ्यता के लिए अनजान, अप्रत्याशित और एक दम नई थी। इस क्रम में यह खगोलीय घटना होने जा रही है। बृहस्पति और शनि ग्रह का मिलन 21 दिसंबर को होने जा रहा है। बृहस्पति और शनि गृह के मिलन को हम दूरबीन से देख सकते हैं। अगर दूरबीन नहीं है तो आप इस घटना को बिना दूरबीन के भी देख सकते हैं।

अब 2080 का करना होगा इंतजार

बृहस्पति ग्रह सूर्य की एक रोटेशन 11.86 साल में पूरा करता है। सूर्य की एक रोटेशन को पूरा करने में शनि को 29.5 साल लगते हैं। हर 19.6 साल में ये दोनों ग्रह आसमान में एक दूसरे के करीब आते नजर आते हैं । सौरमंडल के दो सबसे बड़े ग्रहों के करीब आने की इस स्थिति को महान संयोजन या दि ग्रेट कन्जंक्शन कहा जाता है। इससे पूर्व इस तरह का मिलन वर्ष 2000 में हुआ था, लेकिन उस समय उसकी स्थिति दिन के समय थी। इसलिए हम उस घटना को नहीं देख पाए। अगला कन्जंक्शन 5 नवंबर, 2040 को और 10 अप्रैल, 2060 को होगा, लेकिन इस वर्ष की भांति ग्रेट कन्जंक्शन को देखने के लिए हमें 15 मार्च, 2080 का इंतजार करना होगा।

ऐसे में हम तो यही बोलेंगे कि आज इस खगोलिय घटना को जरूर देखे क्योकि अगर आज आप चूक गये तो पिर आपको इसके लिये काफी समय तक करना होगा इंतजार तो शाम के वक्त थोड़ा सा वक्त इस खगोलिये घटना के लिये जरूर निकाले ।