आज दुनिया भारत को एक आशा की दृष्टि से, एक विश्वास की दृष्टि से देखती है: पीएम मोदी

एक बात तो माननी ही होगी कि पीएम मोदी देश के हर वर्ग में ऊर्जा भरने का काम बखूबी करते जा रहे हैं। उनके इसी काम के चलते जो देश 7 साल पहले थका हुआ और सिथिल नजर आता था आज वो जोश में कही ज्यादा ऊर्जा के साथ विकास के लिए आगे बढ़ रहा है। खासकर देश के युवा मोदी जी के सपनो को पूरा करने में तेजी से लगे हुए भी है। इसी क्रम में पीएम मोदी ने युवा दिवस के मौके पर युवाओं में नया जोश भरा है।

भारत का जन-मन युवा है

पीएम मोदी ने दुनिया को बताया कि आखिर कौन सी चीज है जिससे आज भारत तेजी के साथ आगे  बढ़ रहा है। पीएम मोदी ने संबोधित करते हुए कहा, ‘आज दुनिया भारत को एक आशा की दृष्टि से, एक विश्वास की दृष्टि से देखती है। क्योंकि, भारत का जन भी युवा है, और भारत का मन भी युवा है। भारत अपने सामर्थ्य से भी युवा है, भारत अपने सपनों से भी युवा है। भारत अपने चिंतन से भी युवा है, भारत अपनी चेतना से भी युवा है।’ इसी लिये भारत की बात आज दुनिया सुन रही है। वो जानती है कि भारत की युवा शक्ति देश सहित दुनिया के लिये बेहतर कर सकती है और भारत ऐसा कर भी रहा है। इसके साथ उन्होंने कहा, ‘आजादी के समय जो युवा पीढ़ी थी, उसने देश के लिए अपना सब कुछ कुर्बान करने में एक पल नहीं लगाया। युवा में वो क्षमता होती है, वो सामर्थ्य होता है कि वो पुरानी रूढ़ियों का बोझ लेकर नहीं चलता, वो उन्हें झटकना जानता है। यही युवा, खुद को, समाज को, नई चुनौतियों, नई डिमांड के हिसाब से विकसित कर सकता है, नए सृजन कर सकता है। ये भारत के युवाओं की ही ताकत है कि आज भारत डिजिटल पेमेंट के मामले में दुनिया में इतना आगे निकल गया है। पूरी दुनिया के यूनिकॉर्न इकोसिस्टम में भारतीय युवाओं का जलवा है। भारत के पास आज 50 हजार से अधिक स्टार्ट अप्स का मजबूत इकोसिस्टम है। नए भारत का यही मंत्र है। यानि जुट जाओ और जीतो।

बेटियों को लगातार शक्ति दी जा रही

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हम मानते हैं कि बेटे-बेटी एक समान हैं। इसी सोच के साथ सरकार ने बेटियों की बेहतरी के लिए शादी की उम्र को 21 साल करने का निर्णय लिया है। बेटियां भी अपना करियर बना पाएं, उन्हें ज्यादा समय मिले, इस दिशा में ये एक बहुत महत्वपूर्ण कदम है।  आजादी की लड़ाई में हमारे ऐसे अनेक सेनानी रहे हैं, जिनके योगदान को वो पहचान नहीं मिल पाई, जिसके वो हकदार थे।  ऐसे व्यक्तियों के बारे में हमारे युवा जितना ज्यादा लिखेंगे, रिसर्च करेंगे, उतना ही देश की आने वाली पीढ़ियों में जागरूकता बढ़ेगी।’ इतना ही नही सेना में महिलाओं की भागीदारी हो या फिर दूसरे सेक्टर हर जगह महिलाओं को आगे आने का मौका भी दिया जा रहा है जिससे वो तो शक्तिशाली हो ही रही है बल्कि देश की भी शक्ति दोगुनी होती जा रही है।

युवा दिवस पर पीएम मोदी ने युवाओं के बीच रहकर देश के लिए आगे बढ़ने का एक नया खाका खीचा, वो खाका जिसपर चल कर भारत तेजी से विश्व में आगे निकलेगा।