आज दुनिया के सबसे बड़े मंच पर बोलेंगे मोदी

Modi will speak on the world's largest platform

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज 27 सितंबर को न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के 74वें सत्र को संबोधित करेंगे। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दुनिया के सबसे बड़े मंच से अपने संबोधन में क्या बोलेंगे, इस पर भारत, पाकिस्तान, अमेरिका समेत पूरी दुनिया की नजरें हैं। पीएम मोदी इंडोनेशियाई उपराष्ट्रपति और लेसोथो के प्रधान मंत्री के बाद आज चौथे स्पीकर हैं। पाकिस्तान के पीएम इमरान खान को भी मोदी के संबोधन के तुरंत बाद आज यूएनजीए को संबोधित करना है।

यहां बता हूं कि बीते 4 दिनों से अमेरिका के न्यूयॉर्क में दुनियाभर ने नेताओं का जमावड़ा लगा हुआ है। 24 से 30 सितंबर तक चलने वाले संयुक्त राष्ट्र महासभा के अधिवेशन में करीब 112 राष्ट्राध्यक्ष, 48 शासनाध्यक्ष और 30 से ज्यादा विदेश मंत्री महासभा को संबोधित करेंगे।

पीएम मोदी द्वारा गरीबी को कम करने, सस्ती स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने, आतंक से निपटने और जलवायु परिवर्तन पर अंकुश लगाने के लिए भारत सरकार के प्रयासों को उजागर करने की संभावना है। पीएम मोदी से यह भी अपेक्षा की जाती है कि वह अपनी धरती पर आतंक का समर्थन करने में पाकिस्तान की भूमिका पर कड़ी बात करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाकिस्तान का नाम लिए बिना संयुक्त राष्ट्र के मंच से दुनिया को आतंकवाद, विश्व शांति जैसे अहम मुद्दों पर संदेश देंगे। मोदी के बाद पाकिस्तानी पीएम इमरान खान इसी मंच से अपनी बात रखेंगे। अगर पाकिस्तान की ओर से भारत या कश्मीर पर कुछ कहा जाता है तो इसके बाद भारत के पास राइट टु रिप्लाई के तहत अपनी बात रखने का मौका होगा।

बता दे की आज संयुक्त राष्ट्र महासभा का सत्र भारतीय समयानुसार 6.30 PM IST संयुक्त राष्ट्र महासभा के हॉल में शुरू होगा। और पीएम नरेंद्र मोदी 8-9 PM IST के बीच UNGA को संबोधित करने की संभावना हैं।

UNGA में पीएम मोदी का भाषण महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह ऐसे समय में आया है जब भारत और पाकिस्तान कश्मीर मुद्दे पर टकरा रहे हैं। यह ऐसे समय में भी आया है जब भारत धीरे-धीरे आतंकवाद, जलवायु, ऊर्जा और एसडीजी लक्ष्यों सहित विभिन्न मुद्दों पर विश्व मंच पर एक बड़ी भूमिका निभाने के लिए कमर कस रहा है। भारत ने लगभग सभी अंतर्राष्ट्रीय रैंकिंग और सूचकांक में महत्वपूर्ण सुधार किया है।

इससे पहले पीएम मोदी अमेरिका में लगभग एक दर्जन से अधिक देशों के प्रमुखों से मुलाकात कर चुके हैं, उन्होंने कई बिजनेस लीडर्स से भी मुलाकात की है। बुधवार को पीएम मोदी ने ब्लूमबर्ग ग्लोबल बिजनेस फोरम में वैश्विक उद्योगपतियों को संबोधित किया और भारत आकर निवेश करने का न्योता दिया था।