तीसरी लहर से बचने के लिए पीएम मोदी ने राज्यों को दिया 4T का मंत्र

कोरोना को लेकर लगातार पीएम मोदी जहां एक तरफ खुद रणनीति बना रहे हैं तो दूसरी ओर राज्यों के सीएम के साथ इससे निपटने के लिये बैठक भी कर रहे हैं। इसी क्रम में पीएम मोदी ने नार्थ ईस्ट राज्यों के सीएम से बात करने के बाद अब साउथ इंडिया के 6 राज्यों तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, ओडिशा, महाराष्ट्र और केरल के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की। इस दौरान पीएम मोदी कोरोना की स्थिति को लेकर जानकारी ली। इसके साथ साथ महाराष्ट्र और केरल में बढ़ रहे मामले पर चिंता भी जताई।

कोरोना से निपटने के लिए दिया 4T का मंत्र

जहां एक तरफ पीएम मोदी ने राज्यों की व्यवस्था की समीक्षा की तो दूसरी तरफ 4T का मंत्र भी दिया। पीएम मोदी ने सभी सीएम से अपील की कि वो अपने राज्यो में Test, Track, Treat और टीका की रणनीति पर फोकस करते हुए आगे बढें साथ ही Micro-containment zones पर हमें विशेष ध्यान देना होगा। जिससे तीसरी लहर देश में नहीं फैल पाये। इस बीच बच्चों को लेकर भी उन्होंने विशेष चिंता जताते हुए बोला कि राज्य सरकारें  बच्चों में ये रोग कम फैले इसका भी ध्यान रखें।

महाराष्ट्र और केरल में बढ़ रहे मामलों को रोकना होगा

बैठक के बाद पीएम मोदी ने  कहा कि हम उस स्टेज पर हैं जहां कोरोना की संभावित तीसरी लहर के बारे में बात हो रही है। तीसरी लहर वाकई हम सबके लिए, देश के लिए एक गंभीर चिंता का विषय है। खासकर पिछले कुछ दिनों में, इन 6 राज्यों से लगभग 80 प्रतिशत नए मामले सामने आए हैं। नए मामलों की रिपोर्ट करने वाले राज्यों को कोरोना की तीसरी लहर की संभावना को रोकने के लिए सक्रिय उपाय करने की आवश्यकता है। शुरुआत में विशेषज्ञ ये मान रहे थे कि जहां से सेकंड वेव की शुरुआत हुई थी, वहां स्थिति पहले नियंत्रण में होगी लेकिन, महाराष्ट्र और केरल में केस में इजाफा देखने को मिल रहा है। जो खतरे की घंटी है। ऐसे में इन राज्यों में वैक्सीनेशन के साथ साथ पीएम ने टेस्टिंग तेजी से की जाये इस पर बल देने को बोला।

सभी राज्यों को नए आईसीयू बेड्स बनाने की जरूरत’

पीएम मोदी ने कहा कि माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर हमें विशेष ध्यान देना होगा। जिन जिलों में पॉजिटिविटी रेट ज्यादा है, जहां से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं, वहां उतना ही ज्यादा फोकस भी होना चाहिए। देश के सभी राज्यों को नए आईसीयू बेड्स बनाने, टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने और दूसरी सभी जरूरतों के लिए फंड उपलब्ध करवाया जा रहा है। केंद्र सरकार ने हाल ही में 23 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का इमरजेंसी कोविड रेस्पोंस पैकेज भी जारी किया है।

पीएम मोदी लगातार कोरोना को रोकने के लिये रात दिन जुटे हुए हैं लेकिन इसके बाद भी कुछ लोग हैं जो ये हल्ला मचा रहे हैं कि  मोदी सरकार कोरोना को लेकर सुस्त है। ऐसे लोगों को देश की जनता जरूर जवाब देगी क्योंकि देश की जनता साफ देख रही है कि कोरोना में मोदी सरकार कैसे हर तरह की मदद पहुंचा रही है।