यह तो सिर्फ ट्रेलर है फिल्म 8 अक्टूबर को दुश्मन देखेगा

भारतीय एयरफोर्स अपने 88वीं स्थापना दिवस की जोर शोर से तैयारी कर रहा है। इस मौके पर एयरफोर्स के विमानों ने गाजियाबाद के हिंडन एयरफोर्स स्टेशन पर हवा में कई करतब दिखाये। इस दौरान विमानों से आसमान में आतिशबाजी भी की इस बार क्या क्या होगा खास चलिये हम आपको बताते है।

वायुसेना दिवस पर ताकत दिखायेगा राफेल

आठ अक्तूबर को वायुसेना दिवस पर होनेवाले परेड में 56 लड़ाकू विमान उड़ान भरेंगे। इस बार परेड में राफेल लड़ाकू विमान भी शामिल होगा। राफेल 4.5 जनरेशन का लड़ाकू विमान है इस दौरान राफेल आसमान में ऊंची उड़ान और करतब भी दिखायेंगे। स्थापना दिवस पर वायुसेना की ओर से 19 हेलीकॉप्टरों, 19 लड़ाकू विमान प्रदर्शन में हिस्सा लेंगे इसके साथ रुस निर्मित सूखोई-30, तेजस विमान भी आकर्षण का केन्द्र रहेगा। इसके अलावा राफेल आसमान में अपनी क्षमता का प्रदर्शन भी कर करेगा। इस बार एक और खास बात ये है कि सभी फाइटर जेट्स 5-5 की फॉर्मेशन में उड़ान भर रहे हैं, पहले ये केवल 3-3 की फॉर्मेशन में ही उड़ते थे।

चीन विवाद के बीच भारत दिखायेगा अपनी शक्ति

पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर जारी गतिरोध को देखते हुए इस बार वायुसेना अपनी शक्ति दिखाने में कोई कोर कसर नही छोड़ना चाहती है इसीलिये वायुसेना की भारी परिवहन विमान ग्लोवमास्टर और सुपर हर्कुलिस भी हिंडन एयरबेस के आसमान में अपनी गरिमामय चाल से उड़ते नजर आएंगे जिन्होंने मई में चीन के साथ तनाव शुरू होने के कुछ घंटे के भीतर ही लेह की लगातार उड़ान भरकर टैंक, तोपें, रसद, गोला-बारूद और सैनिकों को एलएसी तक पहुंचाने के लिए हवा में एक पुल बना दिया था। खुद  वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने चीन और पाकिस्तान को सख्त संदेश देते हुए कहा है कि, उत्तरी और पश्चिमी सीमा के दोनों मोर्चों पर भारतीय वायुसेना किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है।

भारत की एयर फोर्स दुनिया की चौथी सबसे ताकतवर एयरफोर्स है। जो हर साल 8 अक्टूबर को अपना स्थपना दिवस मनाती है। लेकिन इस बार वायुसेना ने पहले से ज्यादा तैयारी कर रखी है। क्योकि इस परेड के जरिये दुश्मन को भी बताना है कि जो भारत पर गलत नीयत से देखेगा वायुसेना उसे कही का भी नही छोड़ेगी।

Leave a Reply