अगले साल गणतंत्र दिवस परेड का नजारा भी होगा अलग, क्योंकि बदला होगा राजपथ

अगले साल गणतंत्र दिवस की परेड नवीनीकृत राजपथ पर होगी। अधिकारियों ने बताया कि राष्‍ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक चल रहा सेंट्रल विस्‍टा एवेन्‍यू का पुनर्विकास नवंबर तक पूरा होने की उम्‍मीद है। केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने विस्‍टा एवेन्‍यू निर्माण कार्यों के स्थिति की समीक्षा करते हुए कहा कि इस कार्य के पूरा होने के बाद लोगों को ऐसा अवसर मिलेगा, जिसपर उन्‍हें गर्व होगा।

Rahul Gandhi s taunt on Modi government regarding the Central Vista project  said the country needs oxygen not PM residence - सेंट्रल विस्‍टा प्रोजेक्‍ट  को लेकर राहुल गांधी का मोदी सरकार पर

कृत्रिम तालाबों पर बनेंगे 12 पुल, होगा अद्भुत नजारा’

राजपथ पुनर्विकास परियोजना में बड़े पैमाने पर पत्थर का काम, अंडरपास का निर्माण और अंडरग्राउंड ब्लॉक का काम चल रहा है। इस परियोजना में बागवानी और पार्किंग के लिए भी पर्याप्‍त जगह है। इस प्रोजेक्‍ट पर अधिकारियों का कहना है कि यहां कृत्रिम तालाबों पर बाहर पुल बन रहे हैं। राजपथ पर आने वाले लोगों को यह नजारा आकर्षित करेगा। सेंट्रल विस्‍टा एवेन्‍यू का काम नवंबर तक पूरा हो जाएगा।

2022 तक संसद की नई बिल्डिंग बनाने का लक्ष्य

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले साल 10 दिसंबर को इस परियोजना की आधारशिला रखी थी। इस प्रोजेक्ट के तहत संसद भवन की नई बिल्डिंग और उस इलाके को नए सिरे से बसाया जा रहा है। संसद भवन की नई बिल्डिंड का निर्माण टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड के तहत किया जा रहा है। इस परियोजना पर 971 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है। नया संसद भवन त्रिकोणीय आकार का होगा। साल 2022 में देश के 75वें स्वतंत्रता दिवस तक इसके तैयार होने की उम्मीद है। परियोजनाओं के परिणामस्वरूप हरित आवरण में समग्र वृद्धि होगी। सेंट्रल विस्टा में किसी भी प्रोजेक्ट में पेड़ नहीं काटे जाएंगे। निर्माण चरण के दौरान, सेंट्रल विस्टा परियोजना के पर्यावरणीय प्रभावों को कम करने के लिए एक साथ सख्त उपाय भी किए जा रहे हैं।

जिस तरह से सरकार इस प्रोजेक्ट को पूरा करने में लगी है। उससे तो यही लगता है कि सरकार तय समय में इसका पूरा काम कर लेगी। जिसके बाद पहली बार 26 जनवरी की परेड एक नये राजपथ पर होगी। उस राजपथ पर जिसे हम भारतीयों ने बनाया होगा। जिस पर हमें ज्यादा गर्व भी होगा। जो नये भारत की बुलंद तस्वीर विश्व को दिखा रही होगी। जो ये बता रही होगी विश्व में भारत लगातार तेजी के साथ आगे बढ़ रहा है।