झांसी में स्वदेशी हथियारों की झांकी से जरूर दुश्मन परेशान हो गया होगा

नये भारत में भारतीय सेना का नवीनीकरण तेजी के साथ हो रहा है। सेना की मांग के मुताबिक नये नये हथियार फौज को दिये जा रहे हैं। लेकिन इसमे सबसे बड़ी बात ये है कि अधिकांश हथियार भारत में ही निर्मित हो रहे है जो आत्मनिर्भर भारत की ताकत का दर्शन करवा रहे हैं। इसी क्रम में झांसी से भारत देश के दुश्मनों को स्वदेशी हथियारों की ताकत की झांकी करवाई है जिससे यकीनन दुश्मन मुल्कों के पसीने छूट गये होंगे।

एयरफोर्स को मिला दुनिया का सबसे हल्का हैलीकॉफ्टर

कारगिल हो या फिर लद्दाख के पहाड़ हर जगह अब भारतीय फौज दुश्मन के छक्के छुड़ा सकती है क्योकि भारत की वायुसेना के पास अब स्वदेशी सबसे हल्का हैलीकॉप्टर LCH मिल गया है। यूं तो ये देखने में बिलकुल अमेरिकी हैलीकॉप्टर अपाचे की तरह है लेकिन ये अपाचे से कही ज्यादा शक्तिशाली है। कारण इसका ये है कि जहां अपाचे का वजन 10 टन है तो वही इसका वजन 6 टन है, ये10 से 15 किमी ऊचांई में उड़ान भर सकता है तो इसमें आधुनिक हथियार लगाये गये है जो दुश्मन पर सटीक निशाने लगाने में महिर है। इतना ही नही इसकी बॉडी इस तरह की है जिसमें गोलियों का कोई असर नही पड़ने वाला है।

For Mountain War Against China, Is India's LCH Helicopter Superior To  America's AH-64E Apache?

थल सेना को मिले हाइटेक ड्रोन

एलएसी पर चीन के खिलाफ ड्रोन टेक्नोलॉजी को मजबूत करने के लिए ही इसी साल जनवरी के महीने में भारतीय सेना ने एक स्वदेशी कंपनी से 140 करोड़ रुपये का सौदा किया था। जिसके बाद पीएम मोदी ने ये ड्रोन की पहली डिलेवरी सेना को सौंपी। दिखने में ये छोटे से दिखते हो लेकिन इनकी मदद से सेना को चीनी सीमा पर नजर रखने में बहुत मदद मिलेगी। सबसे बड़ी बात ये है कि ये ड्रोन रडार की पकड़ में भी जल्द नही आते हैं। इसी तरह नौसेना को भी स्वदेशी युध्द पोत रक्षाकवच मिल गया है जो संमदर में दुश्मनों से लोहा लेने में सबसे आगे होगा। इसमें सभी तरह की मिसाइल लगाई जा सकती है तो ये सबमरीन पर अचूक निशाना लगा सकता है।

खुद पीएम मोदी ने सेना को इन स्वदेशी हथियारो को देते हुए बोला कि आज देश का मंत्र है Make In India, Make for world यानी की जिस तरह से भारत हर सेक्टर में आत्मिर्भर हो रहा है उससे यही लगता है कि भारत सच में बदल गया है तभी तो आज भारत 75 देशों में हथियार सप्लाई कर रहा है जो ये बताने के लिये काफी है कि भारत अब दूसरो के हथियार का मोहताज नहीं बल्कि स्वदेश में बने हथियारों के दम पर दुश्मन को हराने का दम रखता है।

Leave a Reply