अटकने, भटकने का दौर भारत से खत्म हुआ

Modi Cabinet

ये कहावत तो आप ने सुनी होगी कि कल करे सो ‘आज कर, आज करे सो अब, पल में प्रलय होएगी, बहुरि करेगा कब’। इस कहावत को कोई पूरी तरह से अमल में लाया जा रहा है। तो वो है, देश की मोदी सरकार, तभी तो महज 6 महीने में वो फैसले लिये गये है, जिनको लेकर देश की जनता सिर्फ यही कहती थी कि ये मामले सिर्फ अटके ही रहेंगे या फिर इन मामलों को लेकर भटकाया ही जाता रहेगा।

धारा 370 और 35 A – धारा 370 को लेकर हमेशा यही बोला जाता था कि ये मुद्दा सिर्फ मुद्दा ही बना रहेगा इसे कोई नही सुलझा सकता। लेकिन अगर सरकार की मंशा साफ हो और वो देश हित के लिये काम करने में जुटी हो तो उसे विवादित से विवादित मुद्दों का हल निकल सकता है, देश में एक राष्ट्र एक ध्वज भी हो सकता है।

तारीफ की बात तो ये रही कि कश्मीर से धारा हटने के बाद कश्मीर में अमन ही छाया रहा इससे ये तो पता चलता है, कि कश्मीर की अवाम भी अमन ही चाहती थी, जो अब मोदी सरकार ने उन्हे दी है। आने वाले दिनो में कश्मीर में कल कारखानो की तस्वीर देखने को मिले तो इसको लेकर चकित होने की जरूरत नही क्योकि कश्मीर का ये भविष्य होने वाला है।

अयोध्या मसला- 1826 से अटका राम मंदिर मामले का रास्ता भी मोदी सरकार के प्रयासों के चलते ही साफ हो पाया है। वरना पुरानी सरकारें तो इस मामले पर चुप रहना ही पंसद करती थी लेकिन देशहित के लिये इसी खास वर्ग को खुश करने की सियासत को पीछे छोड़कर जल्द इसपर फैसला आये इस लिये मोदी सरकार हमेसा प्रयास करती रही। जिसका असर ये हुआ कि इस मामले पर कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया।

भारत की एकता को और मजबूत करने वाले इस फैसले की सबसे बडी कामयाबी ये देखने को मिली की फैसला आने के बाद समूचे देश में फैसले को खुशी के साथ कबूला गया और देश में अमन का माहौल रहा।

तीन तलाक- एक खास वर्ग की महिला कई दशकों से जिस एक प्रथा के चलते अपने पूरे जीवनभर दुख झेलती थी उनका सुध लेने वाला कोई नही था उनकी सुध देश के पीएम बने उनके भाई मोदी जी ने लिया और तुरंत तीन तलाक को हमेशा के लिये खत्म करके अपनी बहिनों को एक ऐसी आजादी दी जिससे उनका कल मजबूत होता हुआ दिखा।

इस फैसले के बाद उन लोगों को जरूर धक्का लगा जो सोच रहे थे कि इससे देश में चारो तरप अफरातफरी का माहौल बनेगा लेकिन इसे मुसलमान भाइयों और बहनों ने हाथो हाथ लेकर ये दिखा दिया कि ईमानदारी के साथ लिये गये फैसले के साथ हमेशा देश खड़ा होता है।

नागरिकता संशोधन बिल- नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 को लेकर हंगामा तो कई सालों से देखा जा रहा है लेकिन देश में इसे लागू करने की हिम्मत सिर्फ मोदी सरकार ने ही दिखाई। सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास के अधार को मजबूत करती मोदी सरकार की कोशिश का ही नतीजा है, कि विधेयक पर जनता उनके साथ दिख रही है। तो विदेश में तकलीफ में रह रहे हिन्दू को ये विश्वास हुआ है कि मोदी सरकार उनके बारे में भी सोच रही है और उनके स्वागत के लिये भारत माता अपना आँचल फैलाकर खड़ी हुई है।

आर्थिक सेक्टर – मोदी सरकार ने भारत की अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर की बनाने के लिये भी कई बड़े और अहम फैसले पिछले कुछ महीनों में लिये है जिसके परिणाम आने वाले दिनों में देखे भी जायेंगे। बैंकों की हालत सुधारने के लिये 10 बैंकों का विलय किया गया तो बैंकों की माली हालत बेहतर करने के लिये 70,000 करोड रूपये दिये गये। विश्व बैंक की डूइंग ऑफ बिजनेस रिपोर्ट में भारत 120 वें पायदान से 63 वे पायदान पर पहुंच गया है तो कारोबार सुगमता सूचकांक में 67 वें स्थान पर है। वही कॉरपोरेट टैक्स को 17 फीसदी करके देश में एक नई प्रतिस्पर्धा का दौर शुरू किया गया है जिससे देश मजबूत हो रहा है।

किसानों के लिये – मोदी 2.0 की पहली कैबिनेट में ही ये साफ हो गया था कि मोदी सरकार ने किसानों के लिये जो वायदे किये है उसे तुरंत पूरा किया जायेगा। जिसके चलते 6000 रूपये आज देश के 14.5 करोड़ लोगों को दिये जा रहे है। तो फसल को बेहतर बनाने के लिये सरकार नई नई योजनाए किसानों को बता रही है, जिससे फसल अच्छी हो सके।

सेना – कहते है कि उस देश का विकास तेजी से होता है जिसकी सेना काफी हाईटेक हो। शायद इसी सोच को आगे बढ़ाते हुए मोदी सरकार देश की सेना को मजबूत करने में जुटी हुई है। इसके साथ साथ सेना के परिवारों के लिये भी सरकार लगातार नई योजनाए लाकर उनका जीवन और बेहतर बनाने में लगी हुई है। तभी तो पहली कैबिनेट में ही सेना के बच्चों को दी जाने वाली स्कालरशिप को बढ़ा दिया । सरकार ने सेना को अत्याधुनिक हथियारो से लैस करने के लिये पिछले दिनों में ही 22800 हजार करोड़ रूपये का रक्षा सौदे को मंजूरी दी है। आज भारत को राफेल, धनुष तोप, नई बुलेटप्रूफ जैकेट, असालट राइफल. K400 मिसाइल और न जाने कितने हथियार या तो भारत आ गये है या फिर आने वाले है, जिससे देश की सैन्य शक्ति बढ़ी है।

वही जनता की भागीदारी से भी देश में बड़े बड़े बदलाव किये जा रहे है जैसे प्लासिटक को देश से मुक्त करने के लिये कदम बढ़ा दिया गया है। जलवायु में हो रहे बदलाव को लेकर सजगता अभियान चलाये जा रहे है मतलब साफ है, कि भारत माता को दुनिया में फिर से विश्व गुरू का स्थान देने के लिये सरकार नये नये परिवर्तन कर रही है। साथ ही सख्त कदम और फैसले भी ले रही है। पुरानी बात को भूलकर देश की जनता मोदी जी का साथ खुलकर इसलिये दे रही है, कि वो नया भारत देखना चाहती है। एक बेहतर भारत देखना चाहती है तभी पीएम मोदी के हर फैसले के सात वो दिख रही है। साथ ही पीएम मोदी हर फैसले में जनता के हितो को ध्यान में रखकर कर रहे है। जिससे सबका विकास हो सबका विश्वास मजबूत हो।