देश में कोविड टेस्ट करवाने वालो की  संख्या हुई 40 करोड़ के पार

कोरोना महामारी की जंग में अगर जीत हासिल करनी है तो दो काम तेजी के साथ करना होगा। एक तो वैक्सीनेशन और दूसरा काम कोरोना को लेकर टेस्ट। मोदी सरकार ये दोनो काम बहुत तेजी से कर रही है जिसके चलते देश में 40 करोड़ कोविड-19 टेस्ट करने का नया रिकॉर्ड बनाया है।

वैक्सीनेशन के बाद कोरोना टेस्ट में बनाया रिकार्ड

ICMR की माने तो भारत ने जून के महीने में प्रतिदिन 18 लाख से अधिक टेस्ट के औसत के साथ 40 करोड़ कोविड-19 टेस्ट करने का नया रिकॉर्ड बनाया है। भारत ने शुक्रवार तक देशभर में 40,18,11,892 सैंपल्स का टेस्ट किया है। गौरतलब है कि देश ने 1 जून 2021 तक 35 करोड़ कोविड-19 सैंपल्स का टेस्ट किया था।इससे पहले भारत ने पिछले साल 7 जुलाई को 1 करोड़ कोरोना टेस्ट किए थे। इसके बाद 23 अक्टूबर को 10 करोड़,  6 फरवरी को 20 करोड़, 6 अप्रैल को 25 करोड़, 8 मई को 30 करोड़ और 1 जून को 35 करोड़ कोरोना टेस्ट पूरे किए थे। आईसीएमआर ने बताया कि शुक्रवार को देश में कोरोना वायरस के लिए 17,45,809 सैंपल टेस्ट किए गए। वहीं एक बयान में कहा कि देशभर में तेजी से टेस्ट के बुनियादी ढांचे और क्षमता को बढ़ाकर इसे काफी मजबूत किया गया है।

देश में लैबोरेट्री की कुल संख्या 2,675

भारत टेस्ट, ट्रैक, ट्रेस, ट्रीट और टेक्नोलॉजी की रणनीति को कुशलता से लागू करने में सफल रहा है, जो हमें इस कोरोना महामारी के प्रसार को रोकने में मजबूत करेगा। आईसीएमआर ने कहा कि देश में लैबोरेट्री की कुल संख्या 2,675 तक पहुंच गई है, जिसमें सरकारी लैबोरेट्री की संख्या 1,676 और प्राइवेट लैबोरेट्री की संख्या 999 है। लैब की बढ़ती संख्या  का ही नतीजा है कि देस में तेजी के सात कोरोना टेस्ट किये जा रहे है। सरकार की माने तो गांवों तक आज कोविड का टेस्ट हो रहा है जिसका परिणाम ये आंकड़े बताते है इसके साथ साथ देश में वैक्सीनेशन का मेगा अभियान ने भी साबित कर दिया की अब लोग टीकाकरण के लिये तेजी से घरो से बाहर निकल रहे है तो सरकार भी वैक्सीन की कमी को पूरा कर रही है जिसके चलते 21 जून के बाद समूचे देश में हर दिन 50 लाख से अधिक लोगों के वैक्सीन लगाई जा रही है।

कोरोना की तीसरी लहर के आने से पहले जो आंकड़े आ रहे है वो ये बता रहे है कि इस बार कोरोना से निपटने के लिये केंद्र सरकार ने कमर कस ली है और वो किसी तरह की कोताही को बरतने के मूड में नही है। तभी तो ऐसे नतीजे आ रहे है जो ये बता रहे है कि कोरोना को हराने में हर दिन देश एक कदम आगे बढ़ रहा है।