भारतीय संस्कार की छवि दिखती है मोदी सरकार में, हर शख्सियत को मिल रहा सम्मान

सच में हिंदुस्तान अब बदल चुका है हर तरफ ये बदलाव महसूस भी किया जा रहा है सबसे बड़ी बात ये है कि भारत अपनी संस्कृति से जुड़ता जा रहा है और ये सब हो रहा है तो एक संस्कारी सरकार के चलते जहां आज देश के वीरों और उनके परिवार को मान दिया जा रहा है तो नये भारत को बनाने में भागीदार हर शख्सियत को भी सम्मान मिल रहा है। फिर वो किसी भी सेक्टर का भला क्यो ना हो।

मोदी जी ने श्रमसेवकों का किया सम्मान

अक्सर आप ने पीएम मोदी को अपने आपको प्रधानसेवक कहते हुए सुना होगा और वो ऐसे ही नहीं अपने आपको प्रधानसेवक कहते है बल्कि लोगों की सेवा में लगे रहते है। इसी क्रम में पीएम मोदी ने काशी विश्वनाथ मंदिर निर्माण करने वाले श्रमिकों पर पुष्पवर्षा करी तो उनके साथ खाना भी खाया जो ये साफ बताता है कि पीएम मोदी के दिल में श्रमिकों का कितना सम्मान करते है इसी तरह पीएम मोदी जब कश्मीर में सेना के जवानों के बीच दिवाली मनाने गये थे तो उन्होने रिटायर सेना के जवानों का सम्मान किया और उन्हे गले लगाया। इसी तरह बनारास में पीएम मोदी दिव्यांग के पैरे छूते हुए भी नजर आये जो ये दर्शाता है कि पीएम मोदी का दिल कितना करूणा से भरा हुआ है। इसी तरह मंदिर के पुरोहितों ने जब पूजा खत्म होने के बाद मंदिर बनाने के लिए आभार जताया तो उन्होने बड़ी विनम्रता से इसे बाबा भोले नाथ कि कृपा बताया।

कर्नल होशियार सिंह की पत्नी के पैर छूकर बढ़ाया मान    

देश में आज केवल सेना के जवानों को ही नहीं सम्मान मिल रहा बल्कि उनके परिवार को भी पूरा मान मिलता है। इसकी एक झलक तब देखने को मिली जब 1971 की जंग के एक दिग्गज कर्नल होशियार सिंह की पत्नी से मुलाकात के दौरान देश के रक्षामंत्री ने उनके पैर छुए और उनका अभिनंदन किया। ऐसी ही एक तस्वीर उस वक्त भी देखने को मिली जब पद्मा पुरस्कार लेने के लिये शहीद की मां भावुक हो गई तो रक्षामंत्री ने उन्हे विश्वास दिलाते हुए दिखाई दिये की मोदी सरकार उनके साथ है और हमेशा साथ रहेगी। सरकार इस तरह अपनी सेना को समर्थन देना और हर वक्त उनके साथ खड़े होने से आज देश की सेना का मनोबल काफी बढ़ चुका है जो सरहद पर देखने को मिलता भी है।

नया भारत अपनी जड़ों से जुड़ रहा है और इसकी झलक भी दिखनी शुरू हो गई है। खुद पीएम मोदी का भी तो यही संकल्प है कि भारत को उसके जड़ो से जोडा जाये और निरंतर वो इसके लिये काम भी कर रहे हैं