मोदी से जो टकराता है उसका हुक्का पानी दुनिया में बंद हो जाता है

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

जिस तरह से करारा जवाब भारत ने चीन को दिया और उसकी दादागिरी को मुंहतोड़ जवाब देते हुए उसके 59 ऐप पर देश में ताला लगाकर एक सख्त संदेश दिया था ठीक भारत की तरह अब विश्व के कई देश चीन को करारा जवाब देने की तैयारी कर रहे हैं। आलम ये है कि दुनिया के कई देश चीन के सामान का बहिष्कार कर रहे हैं तो अमेरिका ने भी टिकटॉक पर रोक लगाने की बात कही है तो वहीं हांगकांग में चीन द्वरा राष्‍ट्रीय सुरक्षा कानून लागू  होने के बाद टिकटॉक को वहां पर भी बैन कर दिया गया है।

अमेरिका भी करेगा बैन

चीनी स्वामित्व वाली इस कंपनी को यूएस भी देश में बैन करने की तैयारी में लगा है। कंपनी पर अमेरिकी उपयोगकर्ताओं के डेटा नियंत्रित करने की जानकारी सामने आई है। सोमवार को अमेरिकी विदेश मंत्री माइकल पोम्पेओ ने फॉक्स न्यूज को बताया कि वे टिकटॉक सहित चीनी सोशल मीडिया ऐप पर प्रतिबंध लगाने पर “निश्चित रूप से देख रहे हैं”। टिकटॉक पर करीब 100 मिलियन से अधिक अमेरिकी जुड़े हुए हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका (सीएफआईयूएस) में टिकटॉक के बारे में सुरक्षा चिंताओं को उठाया। दिसंबर में अमेरिकी सेना ने सैनिकों को टिकटॉक का उपयोग करने से रोक दिया गया। इससे साइबर अटैक का खतरा बताया गया था।

इंडोनेशिया ने किया था बंद

3 जुलाई 2018 को इंडोनेशिया में TikTok पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। इंडोनेशिया सरकार ने इसपर “अश्लील साहित्य, अनुचित सामग्री और निन्दा” के रूप में प्रचारित करने का आरोप लगाया था। कुछ ही समय बाद TikTok ने इंडोनेशिया सरकार को TikTok सामग्री को सेंसर करने के साथ 20 कर्मचारियों को इसपर लगाने का वचन दिया था और 8 दिन बाद इस पर से प्रतिबंध हटा लिया गया। हालांकि अब फिर से इसपर बैन लगाने की प्रक्रिया पर विचार चल रहा है।

आस्ट्रेलिया में चीनी सामान का विरोध

भारत ही नही आस्ट्रेलिया में भी इस वक्त चीन से बने सामनो का बहिष्कार तेजी से किया जा रहा है। जिस के चलते चीन और आस्ट्रेलिया के बीच तनाव भी बढ़ रहा है। हालाकि इसके इतर आस्ट्रेलिया चीन को सबक सीखाने के लिए चीन के सामान का बहिष्कार करने में लगा है। गौरतलब है कि चीन का आस्ट्रेलिया से भी लगातार जमीन को लेकर विवाद चल रहा है समंदर के कई इलाको में चीन अपनी विस्तारवादी नीति के चलते आस्ट्रेलिया को आंख दिखा चुका है हालाकि आस्ट्रेलिया ने चीन को साफ़ तौर पर करारा जवाब देते हुए चीन की सोच बदलने को कहा है वरना अंजाम के लिए तैयार रहने की बात भी कही है।

इतना ही नही दुनिया के करीब 50 से ज्यादा देश आज चीन की सनकी सोच से परेशान हो चुके हैं और चीन को करारा जवाब देने के लिए चीन के सामान का बहिष्कार करने लगे हैं। जिससे चीन को आर्थिक तौर पर कमजोर या यूं कहे चोट पहुंचाई जा सके। यानी कि दुनिया ने तय कर लिया है कि अब चीन की दादागिरी खत्म करके ही दम लिया जायेगा और ये सब अगर किसी के चलते हो रहा है तो वो देश है भारत जिसने ये साबित कर दिया है कि चीन एक नबंर का डरपोक देश है जिसे हराना कोई कठिन बात नही है और इसी के चलते अब दुनिया भी भारत के साथ होकर चीन को हराने में लग चुकी है।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •