गृहमंत्री ने दिल्ली में कानून व्यवस्था की समीक्षा की और लोगों से अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

राजधानी दिल्ली में रविवार की रात नागरिकता संशोधन कानून के समर्थक और विरोध करने वालों के टकराव ने भयानक हिंसा का रूप ले लिया था। पिछले चार दिनों से उत्तर पूर्वी दिल्ली के हालात बहुत खराब हो गए थे। बहरहाल, अब स्थिति धीरे-धीरे सामान्य होती नजर आ रही है।

इसी के मद्देनज़र गृहमंत्री अमित शाह ने दिल्ली में कानून और व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की है और लोगों से अपील कि‍ है की वे अफवाहों पर यकीन न करे। उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस समाज के सभी वर्गो की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार है, चाहे वे किसी भी जाति या धर्म से संबद्ध हो। श्री शाह ने दिल्ली के उत्तर-पूर्वी जिले में हाल की हिंसा को देखते हुए कल एक बैठक में कानून और व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की। बैठक में गृह सचिव अजय कुमार भल्ला, दिल्ली पुलिस आयुक्ता अमूल्य‍ पटनायक और कानून-व्यवस्था से संबद्ध विशेष पुलिस आयुक्तं एस एन श्रीवास्तव उपस्थित थे।

स्थिति धीरे-धीरे हो रही है सामान्य

गृह मंत्रालय ने बताया है कि उत्तहर-पूर्वी दिल्ली के किसी पुलिस स्टेसशन में पिछले 36 घंटों के दौरान किसी घटना की काेई रिपोर्ट नहीं मिली है। हिंसाग्रस्त इलाकों की जमीनी स्थिति में सुधार के मद्देनजर धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा के आदेशों में शुक्रवार को कुल 10 घंटों की छूट दी गयी।

अब तक 35 लोगों की जान गई

गृह मंत्रालय ने अनुसार झडपों, जान-माल की क्षति आदि से संबंधित 48 प्राथमिकी पहले ही दर्ज की जा चुकी हैं और उचित समय के भीतर कुछ और एफआईआर दर्ज की जाएंगी। पुलिस ने अब तक पूछताछ के लिए 514 संदिग्धए व्य क्तियों को हिरासत में लिया है अथवा गिरफ्तार किया है। जांच के दौरान जानकारी मिलने पर और लोगों को गिरफ्तार किया जायेगा। मंत्रालय ने बताया कि 24 फरवरी को शुरू हुई दुर्भाग्यरपूर्ण घटनाओं में 35 लागों की मौत हुई है। साथ ही कानून और व्यवस्था को बहाल करने में 2 सुरक्षाकर्मियों ने ड्यूटी के दौरान अपनी जान कुर्बान कर दी। इसके अलावा, इन दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं में लगभग 70 पुलिसकर्मी और वरिष्ठ अधिकारी घायल हुए हैं। घायलों को मेडिकल सहायता सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त कदम उठाए गए हैं।

सामुदायिक सद्भाव में सुधार

समाज के विभिन्न वर्गो के बीच विश्वास का माहौल पैदा करने के लिए दिल्ली पुलिस ने शांति समितियों की बैठकें आयोजित करने का सिलसिला शुरू किया है ताकि स्थिति सामान्य हो और सांप्रदायिक सदभाव बढाया जा सके। स्थिति सामान्य होने तक शांति समितियों की बैठकें जारी रहेंगी। पिछले दो दिनों में दिल्ली् के विभिन्न जिलों में शांति समितियों की करीब 330 बैठके आयोजित की जा चुकी है।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •