पद्म श्री विजेताओं का पीएम मोदी को वो तोहफा जिससे वो गदगद हो गये!

देश के प्रधान का और आम जनता का प्यार कुछ ऐसा कि एक तरफ पीएम मोदी देश की जनता के लिये विकास का पुल बनाते जा रहे है तो देश इस बाबत उन्हे कुछ ना कुछ तोहफा देकर सम्मानित करती हुई दिखाई देती है। इसी क्रम में पद्म श्री अवार्ड से सम्‍मानित पश्चिम बंगाल के बुनकर बीरेन कुमार बसाक ने जहां उन्हे एक विशेष साड़ी गिफ्ट के तौर पर दी तो पद्मश्री दुलारी देवी ने मधुबनी पेंटिग पीएम मोदी को तोहफे के तौर पर दी। पीएम मोदी ने दोनो की फोटो ट्वीटर पर पोस्ट करके अपने खुशी जाहिर की।

विशेष साड़ी पर पीएम मोदी की रैली की तस्वीर

पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित बंगाली बुनकर बीरेन कुमार बसाक ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक विशेष साड़ी भेंट की। साड़ी में नागरिकों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री की पेंटिंग नजर आ रही है। इस विशेष उपहार से प्रधानमंत्री बहुत प्रभावित हुए और उन्‍होंने बसाक को ट्विटर पर एक पोस्‍ट के लिखकर धन्‍यवाद दिया। पीएम मोदी ने लिखा, “बीरेन कुमार बसाक पश्चिम बंगाल के नादिया से हैं। वह एक प्रतिष्ठित बुनकर हैं, जो अपनी साड़ियों में भारतीय इतिहास और संस्कृति के विभिन्न पहलुओं को दर्शाते हैं। पद्म पुरस्कार विजेताओं के साथ बातचीत के दौरान, उन्होंने मुझे कुछ ऐसा भेंट किया जो मुझे बहुत पसंद आया।“

दुलारी देवी ने दिया अपने हाथों से बनी पेंटिग

मधुबनी पेंटिंग के कारण मशहूर दुलारी देवी को पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इस दौरान पीएम मोदी से उनकी अलग से मुलाकात हुई और उन्हें अपनी एक पेंटिंग भी दुलारी देवी ने भेंट की। पीएम मोदी ने पेंटिंग के साथ ही दुलारी देवी के साथ हुई मुलाकात की तस्वीरें शेयर की। पीएम मोदी ने लिखा कि दुलारी देवी जी उन लोगों में शामिल हैं जिन्हें से पद्मश्री पुरस्कार सम्मानित किया गया है। मधुबनी की रहने वाली दुलारी देवी एक प्रतिभाशाली कलाकार हैं। पद्म अलंकरण समारोह के बाद पुरस्कार विजेताओं के साथ अनौपचारिक बातचीत के दौरान उन्होंने मुझे अपनी कलाकृति भेंट की। उसके लिए उनका आभार और अभिनंदन करता हूं।

ऐसा पहली बार नहीं है जब पीएम मोदी को आम लोगों ने तोहफा दिया हो इससे पहले भी ऐसे कई मौके देखे गये है कि पीएम मोदी को लोग गिफ्ट देते है और वो उसे सम्मान से लेते हैं। लेकिन ये लेन देन गिफ़्टों का या उपहार का नही होता बल्कि एक दूसरे के प्रति सम्मान और भाव का होता है, अपने प्रधान के प्रति प्यार का होता है।