सदियों का सपना पूरा हुआ, आज पूरा भारत भावुक- पीएम मोदी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

पीएम नरेंद्र मोदी ने आज अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की नींव रखी। मंत्रोच्चार के बीच पीएम मोदी ने चांदी की ईंट रखने के बाद पीएम ने कहा कि आज करोड़ों भारतीयों की अभिलाषा, आशा पूरी हुई। आज के इस पवित्र अवसर पर सभी को कोटि-कोटि बधाई। उन्होंने कहा कि आज के दिन की गूंज पूरे विश्व में सुनाई दे रही है।

इमारतें नष्ट हुईं लेकिन राम का अस्तित्व नहीं मिटा

पीएम मोदी ने राम मंदिर की नींव रखने के बाद इस समारोह में आये लोगो को संबोधित करते हुए बोला कि राम मंदिर के लिए चले आंदोलन में अर्पण भी था तर्पण भी था। संघर्ष था। जिनके त्याग, बलिदान और संघर्ष से आज ये सफल हो रहा है, मैं उन सब लोगों को 120 करोड़ देशवासियों की तरफ से सिर झुकाकर नमन करता हूं। गंगा वंदन करता हूं। संपूर्ण सृष्टि की शक्तियां राम जन्मभूमि के पवित्र आंदोलन से जुड़ा हर व्यक्ति पर जो जहां है, इस आयोजन को देख रहा है। वो भाव विभोर है। सभी को आशीर्वाद दे रहा है। साथियों राम हमारे मन में गढ़े हुए हैं। हमारे भीतर घुलमिल गए हैं। कोई काम करना हो तो प्रेरणा के लिए हम भगवान राम की ओर ही देखते हैं। आप भगवान राम की अदभुत शक्ति देखिए। इमारते नष्ट हो गईं, क्या कुछ नहीं हुआ अस्तित्व मिटाने का हर कोई प्रयास हुआ। बहुत हुआ। लेकिन राम आज भी हमारे मन में बसे हुए हैं। हमारी संस्कृति के आधार हैं। श्रीराम भारत की मर्यादा हैं। श्रीराम मर्यादा पुरुषोत्तम हैं। इसी आलोक में अयोध्या मे राम जन्मभूमि पर श्रीराम के इस भव्य, दिव्य मंदिर के लिए आज भूमि पूजन हुआ है।

मंदिर निर्माण से अयोध्या का बदलेगा अर्थतंत्र

पीएम ने कहा यहां आने से पहले मैंने हनुमानगढ़ी का दर्शन किया। राम के सब काम हनुमान ही तो करते हैं। राम के आदर्शों की कलयुग में रक्षा की जिम्मेदारी हनुमान की है। उन्हीं के आशीर्वाद से राम मंदिर का भूमि पूजन हुआ। राम मंदिर आधुनिक समय का प्रतीक बनेगा। हमारी शाश्वस्त आस्था का प्रतीक बनेगा। हमारी राष्ट्रीय भावना का प्रतीक बनेगा। ये मंदिर करोड़ों लोगोंं की सामूहिक संकल्प शक्ति का भी प्रतीक बनेगा। ये मंदिर आने वाली पीढ़ियों को आस्था, श्रद्धा और संकल्प की प्रेरणा देता रहेगा। इस मंदिर के बनने के बाद अयोध्या की भव्यता ही नहीं बढ़ेगी बल्कि इश क्षेत्र का पूरा अर्थतंत्र बदल जाएगा। हर क्षेत्र में अवसर बढ़ेंगे।

चीन से ईरान तक राम का प्रसंग, कई देशों में रामायण

पीएम ने कहा कि दुनिया में कितने ही देश राम के नाम का वंदना करते हैं। वहां के नागरिक खुद को राम से जुड़ा मानते हैं। विश्व की सबसे अधिक मुस्लिम आबादी इंडोनेशिया में है। वहां स्वर्णदीप रामायण, योगेश्वर रामायण जैसी कई अनूठी रामायण हैं। राम आज भी वहां पूजनीय हैं। कंबोडिया, लाओ मलेशिया जैसे देशों में भी कई तरह के रामाणय हैं। ईरान और चीन में राम के प्रसंग तथा राम कथाओं का विवरण मिलेगा। श्रीलंका में रामायण की कथा  जानकी हरण के नाम से सुनाई जाती है। नेपाल का राम से आत्मीय संबंध माता जानकी से जुड़ा है। ऐसा ही दुनिया के न जाने कितने देश और कितने छोर हैं, जहां की आत्मा और अतीत में राम किसी न किसी रूप में रचे बसे हैं। थाईलैंड में भी रामायण है।

इसके साथ साथ पीएम ने राम नाम के मंत्र के चलते ही बापू ने हमे आजादी दिलाई तो आने वाले दिनो में आत्मनिर्भर बनने की प्रेरणा भी भगवान राम से ही मिलती है और राम की कृपा से ही भारत आने वाले दिनो में एक महान राष्ट्र बनकर उभरेगा। इतना ही नही पीएम ने साफ किया कि राम मंदिर आने वाले युगों में भारत की एकता का प्रतीक भी बनेगा।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •