देश ने टीकाकरण का बनाया रिकार्ड लेकिन कुछ राज्यों की रही सुस्त चाल

कोरोना की जंग में कोरोनाको हराने के लिये देश के कुछ राज्य पूरी तरह से जुट गये हैं तो कुछ राज्यों की अभी भी सुस्ती नहीं टूट रही है। लेकिन इसके बाद जिस तरह से देश टीकाकरण के लिए आगे बढ़ा है वो एक मिसाल बन गया है। हालांकि कोरोना से अगर जीतना है तो सभी राज्यों को तेजी दिखानी होगी।

कोरोना से जंग में कुछ राज्य अभी भी सुस्त

टीकाकरण के पहले ही दिन उन राज्यों की पोल खुलकर जनता के सामने आ गई जो वैक्सीनेशन को लेकर बड़े बड़े उपदेश दिया करते थे। लेकिन जब टीकाकरण करने की बारी आई तो उनकी रफ्तार बहुत धीमी रही। सबसे पहले बात पंजाब की करते हैं जहां वैक्सीनेशन को लेकर गर्मजोशी ना के बराबर दिखी। ऑकड़ो की बात करें तो पहले दिन पंजाब में सिर्फ 90 हजार लोगों का ही टीकाकरण हो पाया। इसी तरह झारखंड में 82 हजार और देश की राजधानी दिल्ली में तो सबसे कम महज 76 हजार लोगों के ही टीकाकरण किया गया। जबकि ये वो राज्य हैं जो वैक्सीन की कमी का रोना रोकर केंद्र पर सिर्फ टीकाकरण में देरी करने की बात करते आये थे हालांकि कि सुस्ती किस तरफ से थी ये ऑकड़े देखकर आप अच्छी तरह से समझ गये होंगे। वही दूसरी तरफ मध्यप्रदेश ने सबसे ज्यादा 15.42 लाख लोगों का वैक्सीनेशन करके ये बता दिया कि वो कोरोना के खातमे के लिये कितना सजग है। इसी तरह कर्नाटक में भी करीब 10 लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण हुआ जो सरकार के कामकाज को बताती है इसी तरह यूपी पर वैक्सीनेशन को लेकर ना जाने कितने आरोप लगाने वाले देख ले कि पहले दिन ही यहां पर 6 लाख से ज्यादा टीका लगाया गया। वैसे इन राज्यों में पहले से ही टीकाकरण अभियान तेजी से किया जा रहा था। जिसे मेगा अभियान ने और तेजी प्रदान की है।

वैक्सीनेशन का देश ने बनाया नया रिकार्ड

कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण के महाभियान के पहले ही दिन सोमवार को नया रिकार्ड बना। शाम सात बजे तक देश में वैक्सीन की करीब 83 लाख डोज लगाई गईं, जो रविवार के 36 लाख डोज से दोगुना से भी ज्यादा है। इससे पहले एक अप्रैल को 48 लाख से ज्यादा डोज लगाई थीं। वैक्सीन की बढ़ी हुई उपलब्धता को देखते हुए टीकाकरण में आगे भी तेजी जारी रहने की उम्मीद है। सरकार ने रोजाना एक करोड़ डोज देने का लक्ष्य रखा है। उम्मीद की जा रही है कि जुलाई के अंत तक भारत लगभग 50 करोड़ डोज लगा चुका होगा। इस तेजी को देखकर खुद पीएम मोदी ने भी देशवासियों को ट्विटर पर बधाई देते हुए, वेलडन इंडिया! लिखा।

ऐसे में अब आप अच्छी तरह से जान सकते हैं कि कोरोना के इस आपदा भरे समय में भी सियासत कौन कर रहा है ऐसे लोगो को समझिये और परखिये और हां चुनाव के वक्त उन्हे ऐसा जवाब दीजिये कि वो कभी भी ऐसा ना करे।