कुछ ऐसा था फाँसी के पहले निर्भया केस के दोषियों का हाल

कहते हैं इस दुनिया मे मौत से ज्यादा भयावह कुछ नही | तो जरा सोचिये क्या…