जनता के बीच पीएम मोदी की सरप्राइज विजिट

CBSE के कार्यक्रम में एकाएक शामिल होकर पीएम मोदी ने सभी को सरप्राइज कर दिया। लेकिन ये पहला मौका नही था जब पीएम ने कोई ऐसी सरप्राइज विजिट की हो इसके पहले भी कई बार पीएम मोदी अचानक से जनता के बीच में दिखाई दिये है। जो ये दर्शाता है पीएम मोदी रातदिन बस देशवासियों की सेवा और उनके साथ बिताना चाहते है।

CBSE के कार्यक्रम में मोदी जी की सरप्राइज क्लास

सबसे पहले बात करते है बीते दिन हुई CBSE के कार्यक्रम की जिसमें एकाएक पीएम मोदी शामिल हुए तो छात्र और अभिभावक सभी दंग रह गये लेकिन इन लोगों की खुशी का ठिकाना भी नहीं रहा जब पीएम मोदी ने इस लोगों से बात कि सभी ने एक तरफ पीएम के परीक्षा ना करवाने के फैसले को ठीक फैसला बताया इसके साथ एक छात्र की माँ ने पीएम से बोला ‘’उन्हे शाहरूख खान से मिलने में इतनी खुशी नहीं हुई थी जितनी आज आप से मुलाकात होने में हो रही है।‘’ वही मोदी लुक के दीवाने युवक भी है इस बात का प्रमाण तब मिला जब एक छात्र ने बताया कि ‘’वो भी सेव नही बनाता है क्योकि उन्हे सेव वाला मोदी लुक बहुत अच्छा लगता है।‘’ इसके साथ साथ एक अभिभावक ने पीएम से बोला कि ‘’धारा 370 हटाने का फैसला उन्हे बहुत अच्छा लगा आप देशहित में ऐसे ही फैसला लेते रहिये।‘’ इस बीच पीएम भी बच्चो के साथ खूब चर्चा करते हुए दिखाई दिये।

चानक ही पहुंच गये रकाबगंज गुरूद्वारा

ऐसा नहीं है कि पीएम सिर्फ बैठको में ही ऐसा करते है बल्कि लोगो के बीच सीधे रूबरू भी अचानक हो जाते है तभी तो पीएम मोदी देश के विकास के लिये रकाबगंज गुरूद्वारा बिना किसी तय कार्यक्रम के ही पहुंच गये। जिसके चलते वहां आये लोगों की खुशी देखते ही बनती है। पीएम के जाने के बाद कुछ लोगो ने बोला कि सच में आजादी के बाद देश को पीएम नहीं बल्कि सेवक मिला है लोग पीएम के साथ खिचवाई सेल्फी को एक दूसरे को दिखा कर भी उस नजारा का वर्णन कर रहे थे। जबकि पीएम मोदी के इस कार्यक्रम से साफ हुआ की वो जनता के बीच अधिक से अधिक वक्त गुजारना चाहते है।

जवानों का नोबल बढ़ाने पहुंचे एकाएक लद्दाख

चीन भारत सीमा विवाद के वक्त भी कुछ ऐसा ही देखा गया जब सीमा पर माहौल गर्म था उस वक्त खुद पीएम लद्दाख पहुंचकर दुश्मन को तो कड़ा संदेश दिया ही साथ ही देश के जवानो का भी मनोबल बढ़ाते हुए दिखे पीएम ने साफ किया कि वो उस देश के वासी है जहां के भगवान प्रेम के लिये बंसी तो अधर्म के लिये सुदर्शन च्रक उठाने से नहीं कतराते हैं। पीएम मोदी के इस बोल से देश ही नही बल्कि सेना का भी मनोबल इतना बढ़ा कि चीन को आखिर पीछे लौटना ही पड़ा।

हुनर हाट हो या फिर 15 अगस्त हो या 26 जनवरी, पीएम मोदी हमेशा आम लोगो के बीच बेहिचक पहुंच जाते है। वो कई बार बोल भी चुके है कि सुरक्षा के कारण उनका आम लोगो से मुलाकात कम हो पाती है लेकिन वो उसके बाद भी सरप्राइज देते ही रहते है और ऐसा वो इस लिये करते है क्योकि वो भारत की जड़ो से जुड़े उनमे किंचित मात्र भी ये गुरूर नही है कि वो देश के पीएम है तभी तो जनता के बीच उनकी छवि प्रधानसेवक की है।