CAA-NRC मुद्दा, समर्थन में वकीलों ने सुप्रीम कोर्ट में गाया ‘वंदेमातरम’, पढ़ी संविधान की प्रस्तावना

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

बीते कुछ दिनों में देश भर में CAA-NRC के विरोध में विपक्ष समर्थित प्रदर्शनों के उलट सुप्रीम कोर्ट में वकीलों के एक समूह ने CAA-NRC का समर्थन करते हुए वन्दे मातरम गाया और संविधान की प्रस्तावना भी पढ़ी|

CAA-NRC के समर्थन में वकीलों ने गाया राष्ट्रीय गीत

बुधवार को उच्चतम न्यायालय में देशभक्ति से ओत-प्रोत ये नजारा देखने को मिला| जब उच्चतम नयायालय के वकील हरिशंकर जैन, विष्णु जैन और राकेश सिन्हा के नेतृत्व में उच्चतम नयायालय के वकीलों के एक समूह ने सामूहिक रूप से वन्दे मातरम् का गान किया| इसके उपरांत वकीलों ने भारतीय संविधान की प्रस्तावना भी पढ़ी|

उल्लेखनीय है कि एक दिन पहले वरिष्ठ अधिवक्ता कामिनी जायसवाल, पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद, संजय पारिख, और वकील प्रशांत भूषण के नेतृत्व में वकीलों के एक अन्य समूह ने सुप्रीम कोर्ट में संविधान की प्रस्तावना पढ़ी थी और ये जताने की कोशिश की थी कि देश में अशांति का माहौल है| इनका आशय CAA और NRC का विरोध ही था, हालांकि संविधान की प्रस्तावना पढ़ने के दौरान और उसके बाद इन्होने कोई नारेबाजी नहीं की थी|

उद्देश्य संविधान के मूल्यों और सिद्धांतों को याद कराना

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में वकीलों द्वारा प्रस्तावना पढ़े जाने की कवायद सिर्फ संविधान के मूल्यों और सिद्धांतों को याद करवाना था|


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •