पीएम मोदी की ऐसी तैयारी, चीन की हर चाल पर भारत पड़ रहा भारी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

इस बार लद्दाख में चीन ने भारतीय जमीन पर बुरी नजर डाल कर बड़ी गलती कर दी है। अपनी विस्तारवादी सोच के चलते दूसरे देश की जमीन पर बुरी नजर डालने वाले चीन को इस बार भारत से पंगा लेना भारी पड़ रहा है। वो दुनिया मे अफवाह फैलाकर कितना भी बलवान क्यो न बने लेकिन मौजूदा विवाद से उसके सारे भ्रम टूट चुके हैं। भारत ने सड़क से लेकर सेना के मोर्चे तक चीन को करारा जवाब दिया है और बता दिया है कि 2020 का भारत उस पर 19 नही बल्कि 21 ही साबित हो रहा है।

हर मोर्चे पर चीन को मात दे रहा भारत

जिस चीन के साथ रिश्ते बेहतर करने की पीएम मोदी ने सत्ता में आने के बाद ही हर मुमकिन कोशिश की, जिस चीन को भारत ने शांति के पथ पर चलने की पीएम मोदी ने राह दिखाई, वही अड़ियल चीन शांति की बात कहां समझने वाला था. गलवान में पहले शांति की बात की और फिर सीमा पर अतिक्रमण की कोशिश की, जिसका भारतीय सेना ने करारा जवाब दिया और चीन के करीब 50 सैनिक मार गिराए. अब एक बार फिर चीन को ये अच्छी तरह समझ लेना चाहिए कि अब चीन अगर फिर से कुछ करने की सोचता भी है, तो उसका अंजाम उसे भुगतना होगा। पीएम मोदी कैसे हर मोर्चे पर चीन को पस्त कर रहे है आइए बताते हैं, कैसे पीएम मोदी चीन को हर मोर्चे पर मात देने की तैयारी की हुई है इसपर भी जरा नजर डालते है। गलवान के बाद तो पीएम मोदी सेना को पूरी छूट दे चुके हैं, ताकि अगर चीन कोई हिमाकत करे तो उसका करारा जवाब दिया जाए। LAC पर चीन के हर मंसूबों पर पानी फेर दिया गया है और टैंक से लेकर फाइटर जेट तक लद्दाख में तैनात कर दिए गए हैं। इतना ही नहीं, चीन को आर्थिक चोट पहुंचाने की भी पूरी तैयारी कर ली गई है जिसके तहत अब एक- एक कर सरकार कदम उठा रही है

अमेरिका ने भी खोला चीन के खिलाफ मोर्चा

उधर एक तरफ जहां भारत LAC पर चीन की हर चाल को मात दे रहा है तो चीन के लिये एक बुरी खबर समंदर के रास्ते से भी आई है। क्योकि अब समंदर में अमेरिका उसके लिए काल बनने वाला है। खुद अमेरिका ने साफ कर दिया है और चीन को चेतावनी दी है कि अगर चीन भारत के साथ कुछ भी गलत करता है तो अमेरिका उसका जवाब देगा जिसके चलते अमेरिका ने यूरोप से सेना निकाल कर अब चीन के पास समंदर में ला कर खड़ा कर दिया है। वही जापान ने भी चीन को सख्त लहजे में बोला है कि वो उसके इलाके में घुसपैठ न करे वरना अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहे। यानी की ड्रैगन की चालबाजी अब ज्यादा दिन तक नही चलने वाली है क्योकि विश्व उसके फरेब को जान चुका है और उसके खिलाफ एकजुट हो रहा है।

कुल मिलाकर पूरी बात का लबोलुबाब निकाला जाये तो ये साफ हो गया है कि चीन इस वक्त एक ऐसे चक्रव्यूह में फंस गया है जिसमे से अगर उसे निकलना है तो वो भारत की बात मानकर पीछे हटना शुरू कर दे जिससे विश्व में उसकी छवि बदल सके।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •