डंके की चोट पर ठीक हो रही है अतीत में हुई गलतियाँ: पीएम मोदी

दिल्ली के दिल कहे जाने वाले इंडिया गेट पर अब नेता जी सुभाष चंद्र बोस की मूर्ति का आनावरण हो चुका है जो युगों तक भारत की आजादी की लड़ाई कैसे जीती गई इसकी दास्तान सुनाती रहेगी। वैसे तो अभी पीएम मोदी ने यहां पर होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण किया है। हालांकि बाद में ग्रेनाइट से निर्मित एक प्रतिमा तैयार होने पर वह होलोग्राम प्रतिमा की जगह लेगी। पीएम मोदी ने बोला कि यह प्रतिमा स्वतंत्रता संग्राम में बोस के अतुलनीय योगदान के लिए एक उपयुक्त श्रद्धांजलि होगी। तो उन्होने ये भी साफ किया कि उनकी सरकार डंके की चोट पर अतीत में हुई गलतियों को ठीक करने में लगी हुई है।

देश अब पुरानी गलतियों को सुधार रहा है

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हमें नेताजी बोस के ‘कैन डू’ और ‘विल डू’ की भावना से प्रेरणा लेते हुए आगे बढ़ना है।’ मोदी बोले, ‘स्वाधीनता संग्राम में लाखों-लाख देशवासियों की तपस्या शामिल थी लेकिन उनके इतिहास को भी सीमित करने की कोशिशें हुईं। पर आज आजादी के दशकों बाद देश उन गलतियों को डंके की चोट पर ठीक कर रहा है’ उन्हे सम्मान दिया जा रहा है। देश की आने वाली पीढ़ी उनके बारे में जान सके इसका भी ध्यान रखा जा रहा है और ये भी बताया जा रहा है कि देश को सिर्फ एक परिवार के चलते ही आजादी नहीं मिली है।

Subhas Chandra Bose statue LIVE: थोड़ी देर में नेताजी की होलोग्राम प्रतिमा  का अनावरण करेंगे PM मोदी - PM Narendra Modi to unveil Netaji Subhash  Chandra Bose hologram statue at India Gate

सरदार पटेल और बाबा सहेब को भी सरकार ने दिया मान

ऐसा नहीं की मोदी सरकार सिर्फ नेता जी के लिये ही काम कर रही है बल्कि इतिहास में दफन हुए उन सपूतों को भी आज सम्मान दे रही है जिन्हे सम्मान नही दिया गया। इस क्रम में सरदार पटेल का नाम सबसे पहले आता है जिनकी स्टैच्यू ऑफ यूनिटी बनाकर विश्व में सबसे ऊंची मूर्ति का स्थान दिलाया तो बाबा साहेब अंबेडकर के नाम से दिल्ली में एक इंटरनेशनल सेंटर बनाकर उनका खोया हुआ सम्मान वापस दिलाया। इतना ही नहीं मोदी सरकार ने इस महान हस्तियों को लेकर समय समय पर कार्यक्रम करके देशवासियों को असल इतिहास से भी अवगत करवाया जिससे ये साफ पता चलता है कि मोदी सरकार देश के हर सच्चे सपूत को सम्मान देना चाहती है फिर वो कोई भी क्यो ना हो। इसी तरह मोदी सरकार ने जलियांवाला बाग हो या फिर चौरीचौरा का स्थल हर जगह शहीदों के सम्मान में नवीनीकरण करवा कर दिखाया जिसके बार में कोई सुध भी नहीं लेता था।

सरकार के इस कदम पर देश की जनता में खुशी है तो कुछ लोग इसपर भी सियासत करने से बाज नही आ रहे है। हालांकि ऐसे लोगों को जनता वक्त पर जवाब दे रही है फिर भी ये लोग बदलने का नाम नही ले रहे है। ऐसे में ऐसे लोगों का फिर तो भगवान ही मालिक है।