राज्यों को फिर मिलने लगी वैक्सीन तो ”कोरोना वारियर्स” वैक्सीन लगाने के लिए तोड़ रहे सभी बाधाएं

कोरोना वैक्सीन की कमी की बात के बीच केंद्र सरकार ने साफ किया है कि एक बार फिर से केंद्र सरकार से वैक्सीन की नई खेप राज्यों को मिलने लगी है। अगले तीन दिन में 3.81 लाख खुराकें राज्यों को उपलब्ध होंगी। इससे पहले केंद्र सरकार ने मई के आखिरी सप्ताह में खुराक उपलब्ध कराई थीं और उस दौरान 10 जून तक नई खेप न मिलने की जानकारी भी दी थी। स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि 21 जून से पहले तक पुराने सभी ऑर्डर पूरे किए जाएंगे। इसके बाद नए दिशा-निर्देशों के तहत कार्य किया जाएगा। इसके साथ साथ सरकार ने साफ किया कि आने वाले दिनो में राज्य कोरोना वैक्सीन से जुड़ा कोई भी डेटा और स्टोरेज के तापमान की जानकारी सार्वजनिक न करें।दूसरी ओर वैक्सीन मिलने के बाद कोरोना वारियर्स  तोड़ रहे सारी बाधाएं 

राज्यों को केंद्र ने पहुंचाये 3.81 वैक्सीन की डोज

जैसा सब जानते है कि सरकार 21 जून से वैक्सीनेशन का मेगा अभियान चलाने जा रहा है। लेकिन इसके पहले केंद्र सरकार ने राज्यो की मांग के बचे हुए टीके पहुंचा दिये हैं। सरकार की माने तो अब तक केंद्र सरकार 25,06,41,440 खुराक मुफ्त श्रेणी और राज्यों द्वारा सीधी खरीद की श्रेणी के माध्यम से प्रदान की है। इसमें से कुल खपत 23,74,21,808 खुराक है। जबकि 1,33,68,727 खुराक राज्यों के पास उपलब्ध हैं। अब नई खेप की आपूर्ति भी शुरू हो चुकी है। इसके तहत 3,81,750 से ज्यादा खुराक राज्यों तक पहुंचाई जा रही है। जिन्हें अगले तीन दिन में उपलब्ध कराया जाएगा। इस पूरे सप्ताह वैक्सीन खुराक की आपूर्ति होगी और उसके बाद नए दिशा-निर्देशों पर कार्य किया जाएगा। टीकाकरण से जुड़े आंकड़ों के अनुसार पिछले एक दिन में 27,76,096 खुराकें दी गईं। अब तक देश में टीकाकरण के लिए 33,44,533 सत्रों में 23,90,58,360 खुराक दी जा चुकी है। स्वास्थ्य कर्मचारियों को पहली 99,96,113 और दूसरी 68,94,206 खुराक दी जा चुकी है। ठीक इसी तरह फ्रंटलाइन वर्करों को 1,63,86,094 और 87,28,340, आयु वर्ग 18-44 वर्ष में 3,18,51,951 और 3,18,313, आयु वर्ग 45-60 वर्ष के लोगों में 7,26,04,407 और 1,15,39,053 एवं 60 वर्ष से ज्यादा आयु वालों में 6,12,98,568 और 1,94,41,315 क्रमशः पहली और दूसरी खुराक दी जा चुकी है।

कोरोना वारियर्स हर रुकावट को तोड़ लोगों को लगा रहे वैक्सीन

एक वो लोग हैं जो वैक्सीन को लेकर भ्रम फैला रहे हैं तो दूसरी तरफ कोरोना वारियर्स हैं जो अपनी जान की परवाह किये बिना टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिये हर तरह की बाधा को तोड़कर आगे बढ़ रहे हैं। खासकर कश्मीर में इनके जज्बे को जितना सलाम किया जाये वो कम है क्योंकि पाकिस्तान से सटी सीमा से जुड़े आखरी गांव तक ये लोग पहाडियां चलकर नदी नालो को पार करके वैक्सीनेशन का काम पूरा कर रहे हैं। तभी तो कश्मीर का वेयान गांव देश का पहला ऐसा गांव बन सका है जहां सभी वयस्क का टीकाकरण हो चुका है जो ये बताता है कि भारत कोरोना को हराने के लिये कितनी तेजी से आगे बढ़ रहा है।

वैसे 21 जून से टीकाकरण का मेगा अभियान केंद्र द्वारा चलने वाला है। ऐसे कोरोना वारियर्स की ये मुस्तैदी और राज्यों को मिली वैक्सीन डोज साफ बताती है कि विश्व में भारत सबसे तेज टीकाकरण करने वाला देश बनकर दिखायेगा।