आज से पवित्र अमरनाथ यात्रा शुरू – यात्रियों की सुरक्षा में ताकत और तकनीक का संगम

Amarnath_Yatra

आज सोमवार से पारंपरिक और धर्मिक अमरनाथ यात्रा की शुरुआत बम भोले की जयकारों से हुई और बाबा बर्फानी के दर्शन को श्रद्धालुओं का पहला जत्था बालटाल बेस कैंप से रवाना हुआ| इस जत्थे में करीब 2234 श्रद्धालु है| इन श्रद्धालुओं को 93 गाड़ियों के काफिले के साथ रवाना किया गया|

आपको बता दें कि दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में 3,880 मीटर की ऊंचाई पर बाबा बर्फानी की पवित्र गुफा स्थित है| अमरनाथ की यह यात्रा लगभग 46 दिनों तक चलेगी और 15 अगस्त को इस यात्रा का अंत होगा| यात्रा की शुरुआत पारंपरिक सुख मंगल आरती से हुई जहां भगवान भोलेनाथ की पूजा अर्चना की गई और इस यात्रा के सुख, मंगल, और शांति की मनोकामना की गई|

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

गौरतलब है की अमरनाथ यात्रा हमेशा से ही आतंकवादियों के निशाने पर रही है| हमेशा ही आतंकवादियों की कोशिश इस यात्रा की शांति को भंग करने की रही है| आपको याद होगा की 2017 में भी अमरनाथ यात्रा पर आतंकवादी हमला हुआ था जिसमे 8 श्रद्धालुओं की मौत हो गयी थी|

इस बार अमरनाथ यात्रा के सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए है और इन सुरक्षा तैयारियों का जायजा खुद गृह मंत्री अमित शाह ने अपने कश्मीर दौरे पर लिया था| शाह ने सुरक्षा अधिकारीयों को सख्त निर्देश दिया था कि यात्रा की सुरक्षा इंतजामों में कोई कमी नहीं होनी चाहिए|

सुरक्षा इंतजामों का आधुनिकीकरण – ताकत और तकनीक का संगम

इस बार सुरक्षा इंतजामों में खास बात ये है कि सैन्य बल के साथ-साथ आधुनिक मशीनों को भी आतंकियों की हरकतों पर पैनी नज़र रखने के लिए शामिल किया गया है|

अमरनाथ यात्रा के रास्तों में कोने-कोने और सभी गलियों को सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में रखा गया है| आधुनिक बुलेटप्रूफ वाहनों को भी सरकार के निर्देश पर घाटी में भेजा गया है| घने जंगलों में आतंकी हरकतों पर नज़र रखने के लिए ड्रोन की सहायता ली जा रही है | सीआरपीएफ डीआईजी दिलीप सिंह ने कहा, “यात्रा के लिए, हमने सुरक्षा के सभी इंतजाम किए हैं| तीर्थयात्री उत्साह के साथ यहां आ रहे हैं और सरकार ने सुरक्षित यात्रा के लिए सभी आवश्यक इंतजाम किए हैं |”

श्रधालुओं की गाड़ियों की हर हरकत पर नज़र रखने के लिए गाड़ियों को इलेक्ट्रॉनिक चिप्स से लैस किया गया है|

श्रधालुओं ने सुरक्षा के पुख्ता इन्तेजाम पर संतोष जाहिर किया और मोदी-शाह की तारीफ भी की| उनमे से एक श्रद्धालु ने कहा, “सुरक्षा व्यवस्था बहुत अच्छी है, हम बिल्कुल भी चिंतित नहीं हैं|” उन्ही में से एक और श्रद्धालु ने कहा, “कुछ दिन पहले अमित शाह यहां आए उससे बहुत फर्क पड़ा है, सेना चप्पे चप्पे पर है कोई डर नहीं|”

गौरतलब है की पिछले कुछ महीनों से भारतीय सेना ने जिस तरीके से आतंकियों की पूरी फ़ौज को उनके अंजाम तक पहुँचाने का काम किया है, उससे इस यात्रा में बौखलाए आतंकियों की नापाक हरकत की संभावना बढ़ जाती है| ऐसे में यात्रा की सुरक्षा के पुखते इन्तेजाम सरकार की प्राथमिकता है|